भोपाल।

राज्यसभा (rajya sabha) और उपचुनाव (by election) से पूर्व एक बार फिर मध्यप्रदेश (madhya pardesh) के सियासी गलियारों में हलचल तेज़ हो गयी है। अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(CM Shivraj singh chouhan) का एक ऑडियो (audio) चर्चा का विषय बना हुआ है। इस ऑडियो में सीएम शिवराज खुद कहते सुनाई दे रहे है कि उन्हें मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार को गिराने का आदेश पार्टी आलाकमान से मिला था। बीजेपी के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह(Amit shah) और दूसरे वरिष्ठ नेता ये कहते रहे हैं कि मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार (Kamalnath government) गिराने में बीजेपी (BJP) की कोई भूमिका नहीं है। अब ऐसे में शिवराज का लीक हुआ ये ऑडियो सियासी गलियारों में हलचल मचाने के लिए काफी है। वहीँ कांग्रेस ने इस ऑडियो पर अब शिवराज को घेरना शुरू कर दिया है।

दरअसल शिवराज सिंह चौहान इंदौर (indore) दौरे पर हैं जहाँ रेसिडेंसी कोठी में सांवेर के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया था। अब उस कार्यक्रम का एक ऑडियो अब वायरल (audio viral) हो रहा है। हालांकि ये पुष्टि नहीं हो पायी है कि वो ऑडियो सीएम शिवराज का ही है। इस ऑडियो में सुनाई दे रही आवाज़ में कहा जा रहा हैं कि कमलनाथ सरकार गिराने का फरमान बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व ने तय किया था। वहीं कार्यकर्ताओं को ये भी कहा जा रहा है कि आप बताओ ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya scindia) और तुलसी सिलावट (Tulsi silawat) के बिना सरकार गिर सकती थी क्या? वहीं इंदौर में अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लोगों से अपील करते हुए कहा था कि तुलसी सिलावट यदि विधायक नहीं तो हम मुख्यमंत्री रहेंगे क्या? भाजपा की सरकार बचेगी क्या? उन्होंने जनता से अपील की थी कि वो तुलसी सिलावट को चुनाव में जिताये।

इधर ऑडियो के वायरल होने के बाद कांग्रेस (congress) काफी आक्रामक हो गयी है कांग्रेस प्रवक्ता नरेन्द्र सलूजा(narendra saluja) ने कहा कि आखिर सच ज़ुबान पर आ गया। मुख्यमंत्री शिवराज ख़ुद स्वीकार रहे हैं कि हमारे केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर हमने सिंधिया के साथ मिलकर कांग्रेस की सरकार गिराई क्योंकि वो चाहते थे कि कांग्रेस सरकार गिरे। कांग्रेस शुरू से ही कहती आई है कि भाजपा ने साज़िश करके सरकार गिराई है। अब इस ऑडियो कि सच्चाई क्या है ये तो वक़्त ही बताएगा, लेकिन िलहाल एक बार फिर मध्यप्रदेश में में सियासी माहौल गर्मा गया है।