“बचपन रसगुल्लों का दोना” कवि सुरेश तन्मय के बालगीत संग्रह का लोकार्पण

MP: वरिष्ठ साहित्यकार Suresh Tanmay के बालगीत संग्रह "बचपन रसगुल्लों का दोना" का ऑनलाइन लोकार्पण सम्पन्न हुआ।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट वरिष्ठ साहित्यकार श्री सुरेश कुशवाहा तन्मय (Suresh Tanmay) के बालगीत संग्रह “बचपन रसगुल्लों का दोना” का ऑनलाइन लोकार्पण सम्पन्न हुआ। विश्वरंग, रवींद्र नाथ टैगोर विश्वविद्यालय एवं वनमाली सृजन पीठ भोपाल द्वारा, आइसेक्ट पब्लिकेशन द्वारा प्रकाशित पुस्तकों – उन्हें सुगंध से याद रखना चाहिए (लेखक – श्री चंद्रशेखर साकल्ले, इंदौर) एवं बचपन रसगुल्लों का दोना (लेखक – श्री सुरेश कुशवाह तन्मय, भोपाल) का लोकार्पण एवं पुस्तक चर्चा में कई साहित्यकारों ने भाग लिया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कवि, कथाकार, आइसेक्ट समूह के अध्यक्ष एवं विश्वरंग के निदेशक श्री संतोष चौबे ने की। लोकार्पित पुस्तकों की रोचक एवं विस्तृत समीक्षा वरिष्ठ कवि श्री बलराम गुमाश्ता, भोपाल एवं श्री संजीव वर्मा सलिल, जबलपुर ने प्रस्तुत की। कार्यक्रम के विशेष अतिथि वनमाली सृजनपीठ भोपाल के अध्यक्ष श्री मुकेश वर्मा थे। अतिथियों ने लोकार्पित पुस्तकों के लेखकों को शुभकामनाएं देते हुए आइसेक्ट पब्लिकेशन द्वारा लगातार स्तरीय, रोचक एवं पठनीय पुस्तकों के प्रकाशन की सराहना की।

Read More: भोपाल में एक परिवार ने पिया जहर, दादी और पोती की मौत, तीन सदस्य जूझ रहे जिंदगी और मौत से

"बचपन रसगुल्लों का दोना" कवि सुरेश तन्मय के बालगीत संग्रह का लोकार्पण

उल्लेखनीय हैं, की लोकार्पित पुस्तकों में कवि द्वारा रचित किताबों में सामाजिक एवं  समसामयिक विषयों के साथ विशेषकर बच्चों के लिए विशेष रूप से लिखी कविताएं शामिल है। बता दें कि साहित्यकार श्री सुरेश तन्मय की कविताओं एवं लघुकथा पर कई किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं एवं उनकी एक लघुकथा महाराष्ट्र पाठ्यक्रम की कक्षा 9वीं में पिछले 4 साल से पढ़ाई जा रही है। इस लोकार्पण कार्यक्रम का संचालन श्री कुणाल सिंह ने एवं अंत में समस्त प्रतिभागियों के प्रति आभार आइसेक्ट पब्लिकेशन के प्रबंधक श्री महीप निगम ने व्यक्त किया।

"बचपन रसगुल्लों का दोना" कवि सुरेश तन्मय के बालगीत संग्रह का लोकार्पण