MP उपचुनाव 2020 : अब BJP को बड़ा झटका, उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव के प्रचार पर रोक

यह कदम डॉ.यादव के कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए दिए अमर्यादित भाषण को लेकर उठाया गया है। वहीं, मंत्री और भाजपा प्रत्याशी गिर्राज दंडोतिया और उषा ठाकुर को आचार संहिता के उल्लंघन कानोटिस देकर जवाब तलब किया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश उपचुनाव (Madhya Pradesh by-election) को लेकर चुनाव आयोग (Election Commission) सख्त रवैया अपनाए हुए है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) के बाद अब शिवराज सरकार (Shivraj Government) में उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव (Higher Education Minister Mohan Yadav) पर बड़ी कार्रवाई की गई है। आयोग ने मोहन यादव के एक दिन के प्रचार पर रोक लगा दी है।मतदान से ठीक दो दिन पहले आयोग की इस कार्रवाई से बीजेपी को बड़ा झटका लगा है।

आयोग की सख्ती के बाद यादव (Mohan Yadav) आज शनिवार (Saturday) को न तो किसी सभा, जुलूस और रोड शो में हिस्सा ले पाएंगे और न ही किसी टीवी शो, साक्षात्कार या फिर मीडिया से बातचीत कर सकेंगे। यह कदम डॉ.यादव के कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए दिए अमर्यादित भाषण को लेकर उठाया गया है।  पिछले दिनों मोहन यादव ने कहा था कि हम BJP के लोग हैं बुरा करने वालों को जमीन में दफना देंगे। इसकी कांग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी जिसके बाद चुनाव आयोग ने देर रात जारी आदेश में कहा है कि 11 अक्टूबर को डॉ.मोहन यादव ने कार्यकर्ताओं की बैठक में जिन शब्दों का उपयोग किया, वे आचार संहिता के उल्लंघन के दायरे में आते हैं।

शिवराज के दो मंत्रियों को भी नोटिस

इसके अलावा शिवराज सरकार में दो मंत्रियों पर भी कार्रवाई की गई है।  मंत्री और भाजपा प्रत्याशी गिर्राज दंडोतिया (BJP candidate Girraj Dandotia)  और उषा ठाकुर (Usha Thakur को आचार संहिता के उल्लंघन का नोटिस देकर जवाब तलब किया है। दंडोतिया को कमलनाथ द्वारा इमरती देवी (Imrati Devi) को आइटम कहने पर धमकी देने की कमलनाथ जिंदा निकल गए अगर यह बात यहां कहते तो जिंदा नहीं जा पाते।वही मंत्री उषा ठाकुर को एक रैली में धर्म आधारित शिक्षा को लेकर बयान दिया देने पर नोटिस भेजा गया है। दोनों को चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर 48 घंटे के अंदर जवाब मांगा है।