भोपाल में गर्माया स्थानीय बनाम बाहरी का मुद्दा, दावेदारों में हड़कंप

BD-Sharma's-opposition-

भोपाल। लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी में टिकटों को लेकर जबरदस्त घमासान मचा हुआ है। घोषणा के पहले ही संभावित उम्मीदवारों का जबरदस्त विरोध देखने को मिल रहा है। खास करके बाहरी उम्मीदवारों का। अपने ही अपनों का विरोध कर रहे है। जहां विदिशा लोकसभा सीट से पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज की पत्नी के लिए बगावती सुर फूट रहे है वही भोपाल लोकसभा सीट से बीडी शर्मा के नाम का विरोध शुरु हो गया है। नेता लगातार स्थानीय व्यक्ति को टिकट देने की मांग कर रहे है। इसी के चलते बुधवार को भोपाल सीट से बीजेपी के स्थानीय दावेदार पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने उनके बंगले पहुंचे और स्थानीय नेता को ही टिकट देने की मांग की। जिसके बाद सभी बाबूलाल गौर के बंगले पर इकट्ठे हुए|  भोपाल सीट पर मचे घमासान ने पार्टी को चिंता में डाल दिया है| 

दरअसल, मंगलवार को भोपाल के बीजेपी कार्यालय में प्रदेश चुनाव समिति की बैठक आयोजित की गई थी। इसमें 29 सीटों के दावेदारों पर मंथन। लेकिन आम सहमति नहीं बनी अब प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह नाम लेकर दिल्ली जाएंगे, जहां से अंतिम निर्णय होगा| वहीं भोपाल लोकसभा सीट से पैनल में आलोक संजर, आलोक शर्मा, वीडी शर्मा और ध्रुवनारायण का नाम शामिल किया गया। लेकिन स्थानीय नेता वीडी शर्मा का विरोध कर रहे है। इसी के चलते आज सांसद आलोक संजर, महापौर आलोक शर्मा, पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता और वरिष्ठ नेता बाबूलाल गौर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज से मिलने उनके बंगले पर पहुंचे और स्थानीय दावेदार को ही टिकट देने की मांग की। सभी नेताओं ने एक होकर बीडी शर्मा के खिलाफ खोला मोर्चा दिया। इसके बाद सभी दावेदार गौर के बंगले पर एकत्रित हुए| इन नेताओं का कहना है कि बाहरी क्षेत्र के आदमी को भोपाल से टिकट क्यों दिया जाना चाहिए।  सांसद पद का दावेदार भोपाल का ही कोई लोकप्रिय चेहरा होना चाहिए। वही पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने भी भोपाल लोकसभा के लिए स्थानीय उम्मीदवार को लड़ाने की मांग की। गौर ने कहा कि हम वीडी शर्मा को नहीं जानते है। पहला हक तो आलोक संजर का है, दूसरा हक आलोक शर्मा का है या फिर हम मे से ही किसी को टिकट दिया जाए।

सभी नेताओं ने गौर के बंगले पर पहुंचकर घंटो चर्चा की।  नेताओं के इस विरोध के चलते पार्टी में हड़कंप मच गया है। चुंकी मंगलवार को भी कई दावेदारों का विरोध देखने को मिला था। नेता खुलकर पार्टी के बड़े नेताओं के सामने दावेदारों का विरोध करते हुए नजर आए थे। विदिशा से जहां शिवराज की पत्नी साधना सिंह का विरोध किया गया था वही कई मौजूदा सांसदों का भी विरोध देखने को मिला। घर में ही नेताओं के सीधे विरोध के बाद पार्टी नेता सकते में आ गए है। स्थानीय बनाम बाहरी के मुद्दे पर भाजपा में मचे घमासान ने हाई कमान को चिंता में डाल दिया है|  

भोपाल में गर्माया स्थानीय बनाम बाहरी का मुद्दा, दावेदारों में हड़कंप