रक्षाबंधन से पहले कमलनाथ सरकार ने महिलाओं को दिया तोहफा

Before-the-Rakshabandhan

भोपाल।

अब प्रदेश की महिलाएं पुरुषों की तरह सड़कों पर ई-रिक्शा दौड़ाती हुई नजर आएगी। सरकार ने महिलाओं को ई-रिक्शा खरीदने पर 40  फीसदी अनुदान देने का फैसला किया है।सबसे पहले इसकी शुरुआत एमपी के मिनी मुंबई कहे जाने वाले इंदौर से होगी। अगर यहां सरकार का यह प्रयोग सफल रहा तो इसे अन्य जिलों में लागू किया जाएगा।सरकार के इस फैसले के बाद महिलाओं में खुशी की लहर है।रक्षाबंधन से पहले महिलाओं को ये सरकार का तोहफा माना जा रहा है।

 

दरअसल, सोमवार देर रात मुख्यमंत्री निवास पर हुई पॉलीटिकल कैबिनेट कमेटी की पहली बैठक में इस प्रोजेक्ट को हरी झंडी दी गई। नगरीय प्रशासन विभाग ने भोपाल-इंदौर, जबलपुर-ग्वालियर व उज्जैन के लिए ई-रिक्शा का प्रस्ताव दिया था। सीएम ने कहा कि पहले इसे इंदौर में ही लागू करो। यदि वहां सफल रहता है तो उसे आगे बढ़ाएंगे।शुरुआत में इंदौर-भोपाल में 50-50 महिलाओं को ई-रिक्शा दिए जाएंगे। यदि यह प्रोजेक्ट सफल रहा तो अन्य जिलों ग्वालियर, जबलपुर और उज्जैन में भी इसे लागू किया जाएगा।हालांकि इसमें क्या शर्ते होगी यह अभी स्पष्ट नही हो पाया है।

ऐसे मिलेगा अनुदान

वर्तमान में ई-रिक्शा की कीमत 2.10 लाख रुपए है। इसमें केंद्र सरकार 37 हजार रुपए का अनुदान दे रही है। मूल कीमत में से केंद्र का अनुदान घटाने के बाद राज्य सरकार 40 फीसदी अनुदान देगी। इस तरह महिला को ई-रिक्शा 2.10 लाख में मिलने वाला ई-रिक्शा 1.03 लाख रुपए में मिलेगा। इतना ही नही सरकार ने इसमें लोन की भी शर्त जोड़ी है। जिसके तहत महिलाएं मात्र 5000 रुपए देकर बैंक से 98 हजार का लोन भी ले सकती है। इस पर मात्र 6 प्रतिशत ब्याज लगेगा, जो की वे आसानी से चुका सकेंगी।