मतदान से पहले इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी की उम्मीदवारी पर संकट

Before-the-voting-the-crisis-on-the-Congress-candidate-in-khurai-seat

भोपाल| मध्य प्रदेश में बुधवार को सभी 230 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है| उससे ठीक पहले कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ गई है| सागर जिले की खुरई विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी अरुणोदय चौबे के खिलाफ मुख्य चुनाव आयुक्त दिल्ली, भोपाल, जिला निर्वाचन अधिकारी सागर तथा एसडीएम खुरई से शिकायत की गई है। शिकायत में सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश का हवाला दिया गया है जिसके अनुसार प्रत्याशी को सर्वाधिक प्रसार संख्या वाले अखबारों में तीन बार अपने ऊपर दर्ज आपराधिक प्रकरणों का प्रकाशन कराना था, जो नहीं कराया गया है। 

अधिवक्ता आरबी सिंह द्वारा अरुणोदय चौबे की उम्मीदवारी निरस्त करने तथा आपराधिक मामला दर्ज करने के लिए निर्वाचन आयोग, दिल्ली, राज्य निर्वाचन आयोग भोपाल सहित जिला निर्वाचन अधिकारी को शिकायत की गई है| विधानसभा के ऐसे प्रत्याशी जिनके विरुद्ध गंभीर मामले, जैसे ह्त्या या हत्या के प्रयास या सरकार कार्य में वाधा के प्रकरण विभिन्न न्यायालयों में लंबित है| उनको इसकी जानकारी सर्वाधिक प्रसार संख्या वाले अखबारों में तीन बार अपने ऊपर दर्ज आपराधिक प्रकरणों का प्रकाशन कराना था|  जबकि चाैबे पर हत्या, हत्या का प्रयास, सरकारी कार्य में बाधा डालने संबंधी प्रकरण लंबित हैं। प्रकाशन कराने की अवधि 26 नवंबर थी, जो की निकल चुकी है। इससे कोर्ट के आदेशों की अवमानना हुई है। इस आधार पर आयोग से चौबे की उम्मीदवारी निरस्त करने की मांग की गई है। 

अधिवक्ता सिंह ने बताया कि इस सम्बन्ध में सुप्रीम कोर्ट में न्यायालय की अवमानना का मामला भी प्रस्तुत किया गया है| सर्वोच्च न्यायायलय के उक्त निर्देश का पालन न होने पर सम्बंधित अभ्यर्थी के खिलाफ आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध करने तथा उनकी उम्मीदवारी निरस्त करने के प्रावधान है | उन्होने कहा है कि इस मामले में यदि निर्वाचन आयोग ने जल्द कार्रवाई की तो कांग्रेस प्रत्याशी की खुरई विधानसभा से उम्मीदवारी निरस्त हो सकती है| 

 बता दें कि सागर जिले के खुरई विधानसभा सीट पर अभी बीजेपी का कब्ज़ा है| यहां से विधायक हैं भूपेंद्र सिंह जो वर्तमान में मध्य प्रदेश के गृह एवं परिवहन मंत्री हैं| पिछले बार भूपेंद्र सिंह ने कांग्रेस के अरुणादय चौबे को पराजित किया था| इस बार भी कांग्रेस ने यहां से अरुणादय चौबे को मैदान में उतारा है|  भूपेंद्र सिंह और अरुणोदय चौबे में पिछले दो चुनावों से मुकाबला होता चला आ रहा है| 2008 में अरुणोदय चौबे चुनाव जीत गए थे, इसके बाद 2013 में भूपेंद्र सिंह ने चौबे को शिकस्त दी| अब यह तीसरा चुनाव है जब ये दोनों नेता आमने-सामने है|