Bhopal News: सरकारी डॉक्टर ने IAS पर किया कटाक्ष, VIDEO VIRAL

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सागर मेडिकल कॉलेज (sagar medical college) के डॉक्टर IAS अधिकारियों से अच्छे खासे नाराज हैं। उन्होंने कुछ अफसरों की तुलना अंग्रेजों से करते हुए कहा है कि इनसे तो अंग्रेज ही ज्यादा अच्छे थे। डॉक्टर (doctors) साहब ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर भी सवालिया निशान खड़े किए हैं।

दो दिन पहले सागर मेडिकल कॉलेज के टीचर्स एसोसिएशन (teachers association) के दो डॉक्टरों का लिखा हुआ एक पत्र वायरल हुआ था जिसमें उन्होंने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए इसके लिए (IAS Officers) को जिम्मेदार ठहराया था। पत्र में लिखा गया था कि IAS अपनी पत्नी से लड़ कर आते हैं और उन्हें कब्ज रहती है जिसका गुस्सा वे अधीनस्थों पर निकालते हैं। अब इन्हीं डॉक्टरों में से एक डॉक्टर सर्वेश जैन का एक वीडियो वायरल (Video Viral)  हुआ है।

Read More: Electricity Bill : बिजली कंपनी ने उपभोक्ताओं को दी राहत, कर सकेंगे ये काम

जिसमें वे वल्लभ भवन के कुछ IAS की तुलना में अंग्रेजों के शासन को ज्यादा ठीक बता रहे हैं। वीडियो में डा. जैन ने कहा है कि सरकारी कमीशन ने 2016 में सभी को सातवां वेतनमान देने की बात कही लेकिन हमारे एक अधिकारी ने कहा “नहीं, मेडिकल एजुकेशन को नहीं मिलना चाहिए।” जब वजह पूछी गई तो उन्होंने कहा “यह मेरी इच्छा है यानी साहब के फैंसी स्पेस से ही देश चल रहा है। इससे तो अच्छे अंग्रेज थे। वह अच्छे प्रशासक थे।

उनकी भी इच्छाओं पर ही देश चलता था।” वीडियो में डॉक्टर साहब यह भी कह रहे हैं कि इन साहब लोगों के सामने तार्किक बातें करो तो कहा जाता है कि कुत्तों को भौंकने की आजादी जितनी इंडिया में है उतनी कहीं नहीं है। जबकि फ्रीडम ऑफ स्पीच का लेवल भारत में 192 देशों की तुलना में लगभग डेढ़ सौ के करीब आता है। डॉक्टर सर्वेश जैन ने सवाल पूछा है कि यह बताया जाए कि आखिरकार 2016 से मेडिकल एजुकेशन के डॉक्टरों को सातवां वेतनमान क्यों नहीं मिला और यह भी बता दें कि सवाल क्यों न पूछा जाए क्या हम नॉर्थ कोरिया या अफगानिस्तान में है