दूसरी बार गुजरात के CM बने भूपेंद्र पटेल, भावुक हुए प्रधानमंत्री मोदी, जनता को मंच से किया प्रणाम

Bhupendra Patel Oath Ceremony : भूपेंद्र पटेल ने आज दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री बन गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में गांधीनगर में उन्हें राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई।गांधीनगर में नए सचिवालय के पास हेलीपैड ग्राउंड में आयोजित समारोह में उन्होने राज्य के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। इस अवसर पर पीएम मोदी के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित अन्य केंद्रीय मंत्री और बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए।

दूसरी बार मुख्यमंत्री बने भूपेंद्र पटेल

भूपेंद्र पटेल के अलावा आज 16 विधायकों ने भी मंत्रिपद की शपथ ली। गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 182 में से रिकॉर्ड 156 सीटों पर जीत हासिल की है। गुजरात में भाजपा की यह लगातार सातवीं जीत है। बीजेपी ने चुनावों से पहले ही भूपेंद्र पटेल को सीएम के चेहरे के तौर पर पेश कर दिया था और उन्होने घाटलोडिया सीट पर 1.92 लाख मतों के अंतर से विजय हासिल की है। 15 जुलाई 1962 में भूपेंद्र पटेल का जन्म अहमदाबाद में हुआऔर लोग उन्हें दादा भी कहते हैं। उनके परिवार में की पत्नी हेतल पटेल है, बेटा अनुज पटेल और बहु देवांशी पटेल शामिल हैं। उन्होने सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया है। उनके साथ कैबिनेट मंत्रियों के तौर पर कनुभाई देसाई, ऋषिकेश पटेल, राघवजी पटेल, बलवंत सिंह राजपूत, कुंवरजी बावलिया, मुलुभाई बेरा, भानुबेन बाबरियाठ और कुबेर डिडोर ने शपथ ली। वहीं राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार हर्ष सांघवी और जगदीश विश्वकर्मा तथा राज्यमंत्री के रूप में मुकेश पटेल, पुरुषोत्तम सोलंकी, बच्चू भाई खाबड़, प्रफुल्ल पानसेरिया, भीखू सिंह परमार और कुंवरजी हलपति ने भी शपथ ग्रहण की।

भावुक हुए प्रधानमंत्री मोदी

मुख्मयंत्री पद की शपथ लेने के बाद भूपेंद्र पटेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का आभार जताया। वही इस अवसर पर पीएम मोदी भी भावुक नजर आए। उन्होने शपथ ग्रहण कार्यक्रम के बाद जनता के प्रति आभार जताते हुए झुककर प्रणाम किया। प्रधानमंत्री ने मंच से हाथ जोड़कर, हाथ हिलाकर और सर झुकाकर जनता के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त की। इस मौके पर वे भावुक नज़र आए और उनके चेहरे से साफ झलक रहा था कि वे इस जनादेश और जनता के प्रेम से कितने अभिभूत हैं। लोगों ने भी हर्ष भरे स्वर में उनका अभिवादन किया।