ACB की बड़ी कार्रवाई, 5 लाख रुपए की रिश्वत लेते धराए 2 अधिकारी, 2 IAS के फोन जब्त

ACB द्वारा रिश्वत मामले में उनकी कथित भूमिका की जांच की जा रही है

bribe

जयपुर, डेस्क रिपोर्ट। राजस्थान (rajasthan) के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने राजस्थान कौशल और आजीविका विकास निगम (RSLDC) के दो अधिकारियों को गिरफ्तार (arrest) किया है। वहीँ वरिष्ठ IAS अधिकारियों नीरज के पवन और प्रदीप कुमार गावड़े के मोबाइल फोन को रिश्वत (bribe) मामले में जब्त कर लिया है। नीरज के पवन RSLDC के अध्यक्ष हैं जबकि प्रदीप कुमार गावड़े RSLDC के प्रबंध निदेशक हैं।

दरअसल राजस्थान में एंटी करप्शन ब्यूरो द्वारा एक साथ जयपुर और जोधपुर में बड़ी कार्रवाई की गई। इस दौरान एसीबी की टीम ने अधिकारियों को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। वही दो वरिष्ठ IAS के फोन को जब्त कर दिया गया है। ACB रिश्वत मामले में इन दोनों आईएएस को संदेह के घेरे में रखी हुई है। एसीबी द्वारा रिश्वत मामले में उनकी कथित भूमिका की जांच की जा रही है

Read More: BJP विधायक दल की बैठक आज, इन मुद्दों पर होगी चर्चा, बड़ा फैसला संभव

एसीबी ने शनिवार को जिन दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है उनमें RSLDC योजना समन्वयक अशोक कुमार सांगवान और प्रबंधक प्रदीप कुमार गर्ग शामिल हैं। ACB ने प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना एवं दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल विकास योजना के तहत किये गये कार्य के लिए 1.5 करोड़ रुपये का भुगतान जारी करने, ब्लैक लिस्ट से हटाने, बैंक गारंटी और एक्सटेंशन देने के एवज में शिकायतकर्ता से 5 लाख रुपये की रिश्वत की मांग की थी।

वहीँ रिश्वत लेते हुए आरोपी को रंगेहाथ गिरफ्तार किया था। राजस्थान में वरिष्ठ आईएएस अधिकारी मामले के सिलसिले में एसीबी की जांच के घेरे में हैं। फिलहाल आगे की जांच जारी है और मामले में और गिरफ्तारियां हो सकती हैं।