CM Shivraj की बड़ी घोषणा- “खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए अपनाए जाएंगे ये 5 उपाय”

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व कृषि मंत्री ने किया बीज ग्रामों का शुभारंभ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। MP में किसानों को लाभांवित करने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने “जनकल्याण और सुराज अभियान” के अंतर्गत मिंटो हॉल, भोपाल से बीज ग्रामों का शुभारंभ किया। इस अवसर पर केन्द्रीय कृषि एवं कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी उपस्थित थे। सीएम शिवराज एवं केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर ने विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को बीज मिनी किट का वितरण, कृषक उत्पाद संगठनों का गठन एवं कृषि अधोसंरचना निधि के तहत राशि वितरित की। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल एवं अन्य गणमान्य जनप्रतिनिधियों के साथ विभिन्न योजनाओं का प्रतीकात्मक चेक और हितलाभ हितग्राहियों को सौंपा गया।

CM Shivraj की बड़ी घोषणा- "खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए अपनाए जाएंगे ये 5 उपाय"

कृषि को लाभ का धंधा बनाने के लिए 5 उपाय अपनाए जाएंगे- सीएम शिवराज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए 5 उपाय किए जाएंगे, इनमें “कृषि उत्पादन एवं सिंचाई क्षेत्र में वृद्धि, उत्पादन लागत घटाना, उत्पादन का उचित मूल्य दिलाना, कृषि विविधीकरण और नुकसान की भरपाई अपनाई जाएगी।” कार्यक्रम में सीएम शिवराज ने इफ्को द्वारा नवीन तकनीक से विकसित नैनो यूरिया उत्पाद के बारे में किसानों को जानकारी दी। उन्होने बताया कि नैनो यूरिया तरल है और 10 फीसदी सस्ता है। इसके साथ ही यह काफी कम लगता है, जिस कारण इसकी कीमत काफी कम आती है। इसी के साथ सीएम ने कहा कि मध्य प्रदेश के किसान भाइयों-बहनों से निवेदन है कि हमको एक फसल लेने की बजाय फसल के चक्र में भी उलट-पलट करते रहना चाहिए। यह जमीन के स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। दूसरा जिन चीजों की देश में कमी है, उनके अनुरूप खेती बदलने की कोशिश करनी चाहिए।

कोरोना क्राइसिस में भी एक हफ्ते के भीतर दी फसल बीमा योजना की राशि

सीएम ने कहा कि आज मैं गर्व के साथ कहता हूं कि लगभग 42 लाख हेक्टेयर जमीन में सिंचाई की व्यवस्था हमारी सरकार ने की है। खेतों में सिंचाई, अच्छे बीजों, समय पर खाद-बीज जैसे अनेकों कदम उठाए हैं, जिससे किसानों का उत्पादन बढ़ा है। कोविड 19 की कड़की के समय हमने एक हफ्ते के अंदर फसल बीमा योजना के 3100 करोड़ रुपए किसानों के खातों में जमा कराए और फिर दूसरे साल के 9000 करोड़ रुपए भी किसानों के खातों में डाले। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों की आय बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयत्नशील हैं। उत्पादन बढ़ाने, लागत कम करने और उपज का ठीक दाम देने तथा नुकसान की भरपाई एवं कृषि के विविधिकरण के माध्यम से किसान की आय बढ़ाने का मंत्र उन्होंने दिया है। हमने किसानों को उत्पादन की लागत घटाने के लिए 0% ब्याज़ पर ऋण देना प्रारम्भ किया। डीएपी की कीमत बढ़ी लेकिन पीएम मोदी 1,200 रूपये में ही डीएपी की बोरी देने का निर्णय लिया। इसमें अतिरिक्त खर्च केंद्र सरकार वहन करती है।

किसानों को उच्च उत्पादन किस्मों के बीज वितरण

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 71वें जन्म-दिन के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह में लाखों किसानों को लाभांवित किया गया। कृषि विभाग के बीज ग्रामों का शुभारंभ हुआ जिसके अंतर्गत अनुसूचित जाति-जनजाति बहुल ग्रामों में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए गए। 10 जिलों में बीज ग्राम चयनित किये गये हैं। शाजापुर जिले में 9, उज्जैन में 8, होशंगाबाद, सीहोर, विदिशा और सिवनी में 7-7 ग्राम, राजगढ़ और बड़वानी 8-8 तथा हरदा के 10 ग्राम चयनित किये गये हैं। किसानों को वितरित बीजों के मिनीकिट में सरसों समस्त जिलों में, मसूर 32 जिलों में और अलसी के उच्च उत्पादन किस्मों के बीज उपलब्ध कराए गए।