स्कूल शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला, अब नवीन छात्रों को भी मिलेगा शासकीय शिक्षक प्रशिक्षण संस्थानों में प्रवेश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। स्कूल शिक्षा विभाग के शासकीय शिक्षक प्रशिक्षण संस्थानों में अब नवीन छात्रों को भी प्रवेश मिल सकेगा। मध्यप्रदेश में कई सालों बाद शासकीय संस्थाओं में संचालित बी.एड., डी.एड., डी एल.एड. जैसे शैक्षिक कोर्स में गैर शासकीय या नए विद्यार्थियों को प्रवेश मिल सकेगा। बता दें कि वर्ष 2008 से इन संस्थानों की सभी सीटें प्रदेश के शासकीय विद्यालयों के विभिन्न कैडर के अध्यापकों के लिए आरक्षित थी।

कोविड समीक्षा बैठक : वैक्सीनेशन को लेकर सीएम शिवराज ने दिए ये महत्वपूर्ण निर्देश

संचालक राज्य शिक्षा केन्द्र धनराजू एस ने बताया कि राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) के अंतर्गत 43 शासकीय जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान, 7 अध्यापक शिक्षा महाविद्यालय, 2 प्रगत शैक्षिक अध्ययन संस्थान, 1 शासकीय मनोविज्ञान एवं संदर्शन महाविद्यालय और 1 पूर्व प्राथमिक प्रशिक्षण संस्थान संचालित है। इन संस्थानों में संचालित सभी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए इस वर्ष से विभागीय अभ्यर्थियों और गैर विभागीय अभ्यर्थियों के लिए उपलब्ध सीटों में बंटवारा किया गया है। शासकीय जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों में डी.एल.एड में विभागीय अभ्यर्थियों के लिए 180 और गैर विभागीय अभ्यर्थियों के लिए 3420 सीटों का आवंटन किया गया है।

इसी तरह शासकीय प्रगत शैक्षिक अध्ययन संस्थान भोपाल और जबलपुर में बी.एड. के लिए 182 और 183, शासकीय अध्यापक शिक्षा महाविद्यालय देवास, खंडवा, छतरपुर, रीवा, उज्जैन, ग्वालियर एवं जबलपुर में बी.एड. के लिए 510-510, शासकीय अध्यापक शिक्षा महाविद्यालय खंडवा, छतरपुर, रीवा उज्जैन, ग्वालियर एवं जबलपुर में एम.एड. के लिए 120-120, शासकीय प्रगत शैक्षिक अध्ययन संस्थान भोपाल एवं जबलपुर में 50-50 सीटों का विभागीय अभ्यर्थियों और गैर विभागीय अभ्यर्थियों के बीच आवंटन किया गया है। शासकीय पूर्व माध्यमिक प्रशिक्षण संस्थान जबलपुर में डिप्लोमा इन प्री-स्कूल एजुकेशन की सभी 40 सीटों को गैर विभागीय महिला अभ्यर्थियों के लिए उपलब्ध कराया गया है।

इन सभी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवेदन एम.पी. ऑनलाइन के माध्यम से ऑनलाइन किए जायेगे। प्रवेश से संबंधित अर्हता, शेष विवरण और प्रवेश प्रक्रिया शीघ्र ही एम.पी. ऑनलाइन पोर्टल https://rsk.mponline.gov.in/ पर उपलब्ध होगी।