शिवराज सरकार का एक और बड़ा फैसला, 455 करोड़ होंगे व्यय, 13 जिलों को मिलेगा लाभ

आयुष विभाग के अंतर्गत मध्य प्रदेश के 13 जिलों में पंचकर्म चिकित्सा केन्द्रों के निर्माण कार्य मप्र हाउसिंग बोर्ड द्वारा किया जायेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। नए साल 2022 में प्रदेश की शिवराज सरकार (MP Shivraj Government) ने विकास कार्यों को गति देना शुरू कर दिया है।आए दिन योजनाओं और नवीनकार्यों के लिए बड़े कदम उठाए जा रहे है।  इसी कड़ी में अब शिवराज सरकार द्वारा फैसला किया गया है कि 455 करोड़ की लागत से हाउसिंग बोर्ड, आयुष मिशन के अंतर्गत 13 जिलों में निर्माण कार्य करेगा।वही ग्वालियर स्थित फॉर्मेसी कॉलेज के लिए राशि जारी की गई है।

यह भी पढ़े.. Board Exams 2022: 10वीं-12वीं के छात्रों के लिए बड़ी खबर, 25 मार्च तक कर सकते है आवेदन

मप्र हाउसिंग बोर्ड एवं अधोसंरचना मंडल के आयुक्त भरत यादव ने बताया कि आयुष विभाग (ayush department mp) के अंतर्गत मध्य प्रदेश के 13 जिलों में पंचकर्म चिकित्सा केन्द्रों के निर्माण कार्य मप्र हाउसिंग बोर्ड (MP Housing Board) द्वारा किया जायेगा। इसके लिए 35 लाख रुपये प्रति विंग निर्माण के लिये स्वीकृत किये गये हैं। इस प्रकार 13 जिलों में 455 करोड़ की राशि निर्माण कार्य पर व्यय की जायेगी। इन 13 जिलों में भिण्ड, अलीराजपुर, आगर-मालवा, रीवा, अनूपपुर, बैतूल, भोपाल, धार, बुरहानपुर, मुरैना, उज्जैन, सिंगरौली एवं खण्डवा जिलों में निर्माण कार्य किये जायेंगे।

यह भी पढ़े.. MP Weather: इन जिलों में आज बारिश, बिजली गिरने का अलर्ट, कोहरे-शीतलहर के भी आसार

आयुक्त भरत यादव ने बताया कि इसके अलावा ग्वालियर स्थित फॉर्मेसी कॉलेज के लिये 94 लाख 94 हजार की राशि स्वीकृत की गई है। उन्होंने बताया कि म.प्र. हाउसिंग बोर्ड द्वारा विगत समय से मध्यप्रदेश में उत्कृष्ट भवन निर्माण की श्रंखला प्रारंभ की गई है। उन्होंने बताया कि ग्वालियर के सूर्य नगर में निर्मित आवासीय योजना के अंतर्गत 13,417 करोड़ की लागत से 191 आवासों का निर्माण किया है। इनमें भवन का मूल्य अधिकतम 25 लाख 83 हजार रुपये है।