किसानों के नाम पर हुआ बड़ा फर्जीवाड़ा, 3000 करोड़ का हो सकता है घोटाला: CM

7580
-Big-fraud-named-on-farmers-in-madhya-pradesh-can-be-scam-of-3000-crore-says-cm-kamalnath-

भोपाल| मध्य प्रदेश में सत्ता बदलने के साथ ही पिछली सरकार में किसानों के नाम पर हुए फरजबाड़े का खुलासा हो रहा है| कर्जमाफी की प्रक्रिया के दौरान अलग अलग जिलों से धांधली के मामले उजागर हुए हैं| जिसको लेकर सरकार सख्त हो गई है और जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं| मुख्यमंत्री कमलनाथ का कहना है कि पिछली सरकार में फ़र्ज़ी क़र्ज़ का यह बहुत बड़ा घोटाला है। उम्मीद है कि यह घोटाला 2000 करोड़ से 3000 करोड़ तक भी पहुँचेगा। लेकिन हम किसी को छोड़ेंगे नहीं। हमने कहा है कि इसकी पूरी जाँच करे, दोषियों पर एफआईआर दर्ज हो।

मुख्यमंत्री ने बुधवार को मीडिया से चर्चा में बताया कि प्रदेश में किसानों के नाम पर बड़ा फर्जीवाड़ा हुआ है| फर्जी प्रकरण बनाकर लोन लेने के मामले में बड़ा घोटाला सामने आया है| उन्होंने कहा कि मुझसे आज भी 3-4 जिले के किसान भाई मिले है। कोई बता रहा है, हमने क़र्ज़ लिया नहीं, फिर भी हमारा नाम बकायादार की सूचि में है, कोई कह रहा है कि हमने तो क़र्ज़ लिया ही नहीं। इसी से समझ आ रहा है कि पिछली सरकार में फ़र्ज़ी क़र्ज़ का यह बहुत बड़ा घोटाला है। उन्होंने बताया कि उम्मीद है कि यह घोटाला 2000 करोड़ से 3000 करोड़ तक भी पहुँचेगा। बीजेपी शासन में यह बड़ा घोटाला हुआ है|  दोषी बैंक प्रबंधकों के खिलाफ एफआईआर करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं| 

मुख्यमंत्री ने गौशालाओं के निर्माण को लेकर कहा मुझे बड़ा दुःख है कि पिछले 15 वर्षों में जो ख़ुद को गोरक्षक कहते थे , उन्होंने एक भी गोशाला का निर्माण नहीं किया। हमने कल ही निर्णय लिया है कि हम अपने वचन पत्र के वादे के मुताबिक़ गोशालाओं का निर्माण करवाएँगे। हम लक्ष्य तय करेंगे कि कितनी गोशाला कितने समय में हम निर्माण कर देंगे। हम इसकी हर माह समीक्षा करेंगे। हमारी सरकार गोल्फ़ कोर्स की सरकार नहीं है , इसलिए हमने गोल्फ़ कोर्स निरस्त करने का निर्णय लिया है। वहीं राम मंदिर मुद्दे को लेकर कमलनाथ ने बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा, उन्होंने कहा मोदी जी को राम मंदिर की याद सिर्फ़ चुनाव के वक़्त ही आती है। पिछले 4.5 वर्षों में उन्हें इसकी याद क्यों नहीं आयी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here