कर्मचारियों के लिए काम की खबर, नियमितिकरण-वेतनमान और अनुकंपा नियुक्ति पर अपडेट, जल्द मिलेगा लाभ!

Bhopal Employee News: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के निगम कर्मी दो धड़ों में बंट गए है। एक धड़े ने मांगों पर सहमति बनने के बाद हड़ताल वापस ले ली है वही अधिकारी-कर्मचारी संयुक्त संघर्ष मोर्चा ने दावा किया है कि12 दिसंबर सोमवार को पानी, सफाई, फायर समेत कई जरूरी सेवाएं ठप होगी,  हड़ताल से सभी काम प्रभावित होंगे। कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे। हालांकि, तीन कर्मचारी संगठन मोर्चा से समर्थन वापस ले चुके हैं।

दरअसल,  नगर निगम प्रशासन और कर्मचारियों में नियमितकरण और अनुकंपा नियुक्ति समेत पांच मांगों पर सहमति बन गई है, जिसके बाद मांगों पर सहमति बनने के बाद अखिल भारतीय सफाई मजदूर ट्रेड यूनियन, मप्र हरिजन कल्याण संघ और राष्ट्रीय मजदूर संघ ने मोर्चा से अपना समर्थन वापस ले लिया है। सोमवार को प्रस्तावित हड़ताल में ये शामिल नहीं होंगे।लेकिन  अन्य संगठन हड़ताल पर है। वही निगम प्रशासन ने सभी विभागों से रिक्त पोस्ट के संबंध में आगामी 10 दिन में रिपोर्ट मांगी है।

दरअसल, भोपाल नगर निगम कर्मचारियों ने 12 दिसंबर को ISBT स्थित निगम दफ्तर का घेराव कर आंदोलन का ऐलान किया था।उनकी मांग थी कि 13000 कर्मचारियों को यदि नियमित नहीं किया गया तो 12 दिसंबर से अनिश्चितकालीन कामबंद हड़ताल शुरू कर देंगे। न तो वे सफाई करेंगे और न ही पानी की सप्लाई। फायर से लेकर वार्ड-जोन ऑफिसों में तालाबंदी कर देंगे। कर्मचारियों की चेतावनी के बाद अफसर और जनप्रतिनिधियों ने संगठन के पदाधिकारियों से मुलाकात की और हड़ताल के एक दिन पहले आखिरकर मांगों को लेकर दोनों पक्षों में सहमति बन गई है।

वही इस फैसले के बाद हड़ताल को लेकर मोर्चा पदाधिकारियों ने कहा कि कामबंद हड़ताल करेंगे। कर्मचारी किसी भी अफवाह में न आएं। निगम ने हमारी मांगें नहीं मानी है। सोमवार को कामबंद हड़ताल से साफ-सफाई, कचरा उठाने आदि सेवाएं ठप हो जाएंगी।

जल्द जारी होंगे प्रमोशन के आदेश

मिली जानकारी के अनुसार, सफाईकर्मियों के 318 खाली पदों पर विनियमित कर्मचारियों को भर्ती की जाएगी और वरिष्ठता सूची जारी होगी। मार्च में जो कर्मचारी रिटायर्ड होंगे, उनकी पोस्ट पर अनुकंपा नियुक्ति की जाएगी। सातवें वेतनमान की अंतिम किश्त का मार्च तक भुगतान किया जाएगा।वही 29 दिवस दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को संविदा पदों पर नियमित किया जाएगा। इसके लिए MIC और परिषद की मीटिंग में प्रस्ताव रखेंगे।जिन नियमित कर्मचारियों को 10 वर्ष हो गए हैं, उनकी क्रमोन्नति के आदेश जारी होंगे, आदि मांगो पर सहमति बनी है।

रिक्त पदों के लिए कर्मचारियों की वरिष्ठता सूची जारी

कर्मचारी नेताओं से मुलाकात के बाद नगर निगम में रिक्त पदों के लिए 1273 विनियमित कर्मचारियों की वरिष्ठता सूची जारी की गई है। ये सूचियां नगर निगम मुख्यालय समेत वार्ड और जोन कार्यालयों में चस्पा की जाएगी। इसके साथ ही निगमायुक्त ने विभागाध्यक्षों से 10 दिन में विनियमित कर्मचारियों के संबंध में अनापत्ति प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।

ये है प्रमुख मांगे

  • वर्षों से कार्यरत नगर निगम के दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को नियमित ।
  • निगम के स्थायी विनियमित कर्मचारियों को न्यायालयीन आदेश, शासन आदेश, परिषद संकल्प के अनुसार शैक्षणिक योग्यता को ध्यान में रखकर शीघ्र नियमित वेतनमान पर नियुक्ति।
  • नियमित कर्मचारियों को योग एवं पात्रताधारी तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को पदोन्नति ।
  • नियमित अधिकारी-कर्मचारियों की सेवा के दौरान मृत्यु होने पर अनुकंपा नियुक्त बिना किसी विलंब के आश्रित को दी जाए।
  • स्थायीकर्मी दैनिक वेतनभोगी कर्मी की मृत्यु होने पर मानवीय आधर पर विशेष प्रकरण के तहत आश्रित को दैनिक वेतनभोगी पर रखने की मंजूरी ।
  • सातवें वेतन की अंतिम किश्त का भुगतान जल्द किया जाए।