MP: राज्य शासन की बड़ी तैयारी, जारी हुए ये दिशा निर्देश, इस तरह मिलेगा 25 नवंबर तक लाभ

इस दौरान शांति, एकता, सद्भाव और राष्ट्रीय अखण्डता का संदेश फैलाने के उद्देश्य से विभिन्न गतिविधियाँ की जायेंगी। सप्ताह के अंतिम दिन 25 नवम्बर झण्डा दिवस के रूप में मनाया जायेगा।

mp recruitment

MP Government :  आज 19 नवंबर से 25 नवंबर तक मध्य प्रदेश सरकार कौमी एकता सप्ताह और विश्व धरोहर सप्ताह मनाने जा रही है। कौमी एकता सप्ताह के तहत शांति, एकता, सद्भाव और राष्ट्रीय अखण्डता का संदेश फैलाने के उद्देश्य से विभिन्न गतिविधियाँ की जायेंगी और 25 नवम्बर झण्डा दिवस के रूप में मनाया जायेगा।वही विश्व धरोहर सप्ताह के तहत राज्य के संग्रहालय और स्मारकों में 19 नवंबर को दर्शकों के लिए प्रवेश निःशुल्क रहेगा।

दरअसल, राज्य शासन द्वारा प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी कौमी एकता सप्ताह 19 नवम्बर से 25 नवम्बर तक मनाया जायेगा। इस दौरान शांति, एकता, सद्भाव और राष्ट्रीय अखण्डता का संदेश फैलाने के उद्देश्य से विभिन्न गतिविधियाँ की जायेंगी। सप्ताह के अंतिम दिन 25 नवम्बर झण्डा दिवस के रूप में मनाया जायेगा।

कौमी एकता सप्ताह मनाने संबंधी राष्ट्रीय साम्प्रदायिक सद्भाव प्रतिष्ठान नई दिल्ली द्वारा विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं। संस्थान द्वारा कौमी एकता सप्ताह के दौरान साम्प्रदायिक, जातीय, आतंकवादी घटनाओं में जो बच्चे अनाथ हुए हैं, उनके कल्याण के लिये स्वैच्छिक आधार पर वित्तीय सहायता प्राप्त की जाती है। संस्थान द्वारा विभिन्न शासकीय विभागों को झण्डे, पोस्टर्स, पेम्फलेट्स आदि भिजवा कर अधिक से अधिक वित्तीय सहायता का अनुरोध किया गया है।

पर्यटन मंत्री करेंगी शुभारंभ

संस्कृति, पर्यटन और धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री सुश्री उषा ठाकुर 19 नवंबर, शाम 4 बजे राज्य संग्रहालय में विश्व धरोहर सप्ताह प्रदर्शनी का शुभारंभ करेंगी। साथ ही आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में आयोजित फोटोग्राफी प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत करेंगी। मंत्री सुश्री ठाकुर पुरातत्व संचालनालय द्वारा प्रकाशित पुस्तकों का विमोचन भी करेंगी।इस मौके पर सूचना आयुक्त  विजय मनोहर तिवारी भी उपस्थित रहेंगे।

विश्व धरोहर सप्ताह 19 से 25 नवंबर तक

प्रमुख सचिव संस्कृति और पर्यटन  शिव शेखर शुक्ला सुबह 11 बजे राज्य संग्रहालय में विश्व धरोहर सप्ताह संबंधी गतिविधियों का शुभारंभ करेंगे।  प्रमुख सचिव  ने बताया कि विश्व धरोहर सप्ताह में 19 नवंबर को राज्य के अधीन संग्रहालय और स्मारकों में दर्शकों का प्रवेश निःशुल्क रहेगा। साथ ही संचालनालय पुरातत्व द्वारा 19 से 25 नवंबर तक राज्य के विभिन्न संग्रहालयों में धरोहरों के संरक्षण और संवर्धन के लिए व्याख्यानमाला और कार्यशाला होगी। साथ ही प्रदर्शनी भी लगाई जायेगी।

इनका होगा व्याख्यान 

राज्य संग्रहालय के कार्यक्रम में डॉ. विष्णु श्रीधर वाकणकर पुरातत्व शोध संस्थान भोपाल के निदेशक  प्रकाश परांजपे, जीवाजी विश्वविद्यालय के प्रो. एस.के. द्विवेदी, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण दिल्ली के सेवानिवृत्त अधीक्षक डॉ. मेनुअल जोसेफ और अश्विनी शोध संस्थान उज्जैन के निदेशक डॉ. आर.सी. ठाकुर का व्याख्यान होगा।