digvijay singh

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश उपचुनाव (Madhya Pradesh By-election) के नतीजों से ठीक दो दिन पहले कम्प्यूटर बाबा (Computer Baba) की गिरफ्तारी और आश्रम का अतिक्रमण (Encroachment) हटाने को लेकर इंदौर प्रशासन (Indore Administration) की बड़ी कार्रवाई से सियासत गर्मा गई है। कांग्रेस ने इसकी कड़ी निंदा की है और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Former Chief Minister Digvijay Singh) ने इस कार्रवाई को बदले की भावना बताया है। बता दे कि कम्प्यूटर बाबा ने उपचुनाव कांग्रेस (Congress) का प्रचार किया था।

पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने ट्वीट कर इस पूरे घटनाक्रम की निंदा की है और इसे बदले की भावना बताया है। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट (Tweet) कर लिखा है कि इंदौर में बदले की भावना से कम्प्यूटर बाबा  का आश्रम व मंदिर बिना किसी नोटिस दिए तोड़ा जा रहा है। यह राजनैतिक प्रतिशोध (Political Revenge) की चरम सीमा है। मैं इसकी निंदा करता हूँ।

दरअसल, आज रविवार (Sunday) सुबह इंदौर में प्रशासन (Indore Administration) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए कम्प्यूटर बाबा के गोम्टगिरी स्थित आश्रम पर बुल्डोजर चला दिया। कंप्यूटर बाबा पर 46 एकड़ गौशाला (Cowshed) की जमीन पर कब्जे का आरोप है। अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान विवाद की आशंका को देखते हुए कंप्यूटर बाबा सहित 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस (Indore Police) बल मौजूद है। इस मामले में प्रशासन ने दो महीने पहले नोटिस (Notice) भेजने के बाद अब गिरफ्तारी (Arrest) की है। कार्रवाई के बाद सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गई है।