बीजेपी उम्मीदवार का ‘जिन्ना’ प्रेम, कहा-‘जिन्ना पीएम बनते तो देश नहीं बंटता’

bjp-candidate-love-for-pakistan-pm-jinnah

भोपाल।  मध्य प्रदेश की रतलाम झाबुआ लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी गुमान सिंह डामोर की जुबान सभा को संबोधित करते हुए फिसल गई। सभा में अचानक उनका जिन्ना प्रेम सबके सामने आ गया। जिसके देख सब हैरान हो गए। उन्होंने कहा कि देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जगह मोहम्मद जिन्ना होते तो देश के दो टुकड़े नहीं होते।

उन्होंने कहा कि, मोहम्मद जिन्ना एडवोकेट और विद्वान व्यक्ति थे, लेकिन जवाहरलाल नेहरू की फूट डालो की नीति के कारण देश का विभाजन हुआ और आज भी कांग्रेस के विभाजन की नीति साफ है। उन्होंने कहा कि हमारे सामने विरोधी पार्टी है वह है कांग्रेस। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी का काम यह था कि वह अंग्रेजों का गुणगान करे। ब्रिटिश सरकार की मदद करने के लिए कांग्रेस पार्टी बनी थी। गुमान सिंह ने कहा कि 1952 से पहले के कांग्रेस की अधिवेशनों के नोट पढ़ेंगे तो उसमें अंग्रेजों के गुणगान के सिवा कुछ नहीं है।

गुमान सिंह ने कहा कि अगर देश के विभाजन के लिए कोई पार्टी जिम्मेवार है तो वो कांग्रेस है। 1942 में जब भारत छोड़ो आंदोलन हुआ था तो हमारे देश में प्रधानमंत्री बनने की होड़ मच गई थी। कांग्रेस के कुछ लोग चाहते थे कि हम पीएम बनें। आजादी के समय अगर जवाहर लाल नेहरू जिद नहीं करते तो इस देश के दो टुकड़े नहीं होते। उन्होंने कहा कि मोहम्मद अली जिन्ना एक एडवोकेट, एक विद्वान व्यक्ति थे, अगर उस समय ये निर्णय लिया होता कि हमारे पीएम जिन्ना बनेंगे तो इस देश के टुकड़े नहीं होते। उन्होंने कहा कि इस देश में अमन चेन कांग्रेस पार्टी ने लूटा है। इस देश में हिंदू और मुस्लिम भाई एक साथ रहते हैं। लेकिन कांग्रेस की सोची समझी रणनीति के तहत विभाजन हुआ जिस वजह से आज कश्मीर समस्या हमारे सामने है। इसलिए हमे जरूरत है कि हम वह नेतृत्व चुने जो भारत का मान सम्मान दुनिया में बढ़ाए। इसलिए हमें मोदी जी को चुनना है।