दिल्ली में आज तय हो सकते हैं 8 सीटों पर नाम, शिवराज दावेदारों की लिस्ट लेकर रवाना

BJP-may-declare-madhya-pradesh-candidate-today

भोपाल। मध्य प्रदेश में कई सीटों पर बीजेपी और कांग्रेस को उम्मीदवारों की तलाश है। अब तक दोनों ही दल प्रत्याशियों को तलाश नहीं पाए हैं। बीजेपी में हाई प्रोफाइल सीटों पर लगातार हो रही देरी से दावेदारों की धड़कनें बढ़ गईं हैं। लोकसभा चुनाव के इस अखाड़े में कई दिग्गजों की साख दांव पर लगी है। भोपाल से कांग्रेस ने पूर्व सीम दिग्विजय सिंह को उतार कर बीजेपी पर दबाव बढ़ा दिया है। आज पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान दिल्ली रवाना हो रहे हैं। वह आठ सीटोंं पर दावेदारों के नाम की लिस्ट लेकर जा रहे हैं। कयास लगाए जा रहे हैं आज बीजेपी उम्मीदवार तय कर लिस्ट जारी कर सकती है।  

दरअसल, भाजपा में इंदौर सीट से उम्मीदवारों का चयन लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की वजह से नहीं हो सका। महाजन ने चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है। पार्टी उन्हें मनाने की कवायद में जुटी है यही इस सीट पर देरी का कारण है। धार में बीजेपी का मज़बूत उम्मीदवार नहीं है। बड़ी संख्या में टिकट चाहने वालों के कारण पार्टी सागर और खजुराहो में अपने उम्मीदवार तय नहीं कर सकी। बीजेपी को अभी भी भोपाल सीट से उम्मीदवार की तलाश है, जिसे कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के खिलाफ मैदान में उतारा जा सके। रतलाम से टिकट अभी भी तय नहीं है, क्योंकि पार्टी को वहां एक मजबूत उम्मीदवार नहीं मिला है। जानकारी के अनुसार, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को दिल्ली के लिए रवाना हो रहे हैं। केंद्रीय नेताओं के साथ चौहान की बैठक के बाद भाजपा के शेष उम्मीदवारों की सूची की घोषणा की जा सकती है। यह भी कहा जा रहा है कि कांग्रेस कुछ दिनों में अपने शेष उम्मीदवारों की सूची की घोषणा भी कर सकती है। 

गौरतलब है कि बीजेपी में लगातार उम्मीदवारों को लेकर मंथन चल रहा है। भोपाल सीट पर पेंच फंसा है। जो अब तक दूर नहीं हो पाया है। शिवराज सिंह के नाम के साथ ही इस सीट पर नरेंद्र सिंह तोमर और वीडी शर्मा के नाम की चर्चा थी। लेकिन तोमर मुरैना से पहले ही उम्मीदवार घोषित किए जा चुके हैं। हाल ही में उन्हें पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री हिम्मत कोठारी ने सवाल उठाते हुए नरेंद्र तोमर को चिट्ठी लिखी है। पूर्व मंत्री हिम्मत कोठारी ने केंद्रीय मंत्री व मुरैना से भाजपा प्रत्याशी नरेंद्र सिंह तोमर को पत्र लिखा है| जिसमें उन्होंने कहा है कि उनके चुनाव लड़ने को लेकर बनी असमंजस की स्थिति को स्पष्ट करें। उन्होंने लिखा कि आपको मुरैना से प्रत्याशी घोषित करने के बाद से ही मीडिया में आपके भोपाल से चुनाव लड़ने की खबरें आ रही हैं। इससे असमंजस पैदा हो रहा है। आप स्वयं यह घोषणा करें कि मुरैना से ही चुनाव लड़ेंगे। 

भोपाल इंदौर पर सबसे ज्यादा खींचतान, सस्पेंस बरकरार  

मध्य प्रदेश की भोपाल और इंदौर सीट पर सबसे ज्यादा खींचतान नजर आ रही है| भोपाल में कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह को उतारा है, जिसके बाद से ही भाजपा को जिताऊ उम्मेदर तय करने में समय लग रहा है| कई रणनीति बदलने के बाद भी अब तक नाम फाइनल नहीं हो पाया| वहीं इंदौर में भाजपा को बड़े घमासान के दौर से गुजरना पड़ रहा है| ताई के पत्र लिखकर चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा के बाद भी स्तिथि साफ़ नहीं हो पाई है| समझा जा रहा था कि इसके बाद पार्टी इंदौर सीट को लेकर अपना रुख स्पष्ट कर दे, लेकिन आज जारी सूची में भी इंदौर को लेकर इंतजार खत्म नहीं हो सका।

सिंधिया की सीट पर चर्चाओं का दौर जारी 

हाई प्रोफाइल सीटों में से एक गुना-शिवपुरी संसदीय क्षेत्र से अब तक दोनों ही पार्टी में मंथन जारी है| कांग्रेस से वर्तमान सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की सीट बदलने की चर्चा रह रहकर सामने आ रही है, तो वहीं उनकी पत्नी प्रियदर्शिनी राजे के भी चुनाव लड़ने के कयास लगाए जा रहे हैं| हालांकि दोनों ही बातें कई बार पार्टी नेता नकार चुके हैं, लेकिन फैसला नहीं हो पाने के चलते चर्चाओं का दौर जारी है| वही भाजपा भी अब तक गुना के लिए अपना चेहरा तय नहीं कर पाई है|