VIDEO : BJP विधायक ने कांग्रेस नेताओं पर लगाए अवैध रेत खनन के गंभीर आरोप

BJP-MLA-accused-of-serious-sand-transport-imposed-on-Congress-leaders-in-mp

छतरपुर।

पूर्व भाजपा विधायक आरडी प्रजापति और छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी के बीच रेत उत्खनन को लेकर चली बयानबाजी के बाद अब आरडी के बेटे और वर्तमान चंदला भाजपा विधायक राजेश प्रजापति ने बड़ा हमला बोला है।राजेश ने आलोक समेत कई कांग्रेस विधायकों पर अवैध रेत उत्खनन को लेकर गंभीर आरोप लगाए है। राजेश ने कहा है कि आलोक चतुर्वेदी द्वारा लगाए गए आरोप निराधार है, वो खुद अवैध खनन में संलिप्त है और सिंडिकेट बनाकर काम कर रहे है। इनमें सभी कांग्रेस के विधायक शामिल है। कोई भी प्रशासन-शासन इन पर कार्रवाई नही कर रहा है।ये सब सत्ताधारी पार्टी वाले कर रहे है। साथ ही उन्होंने साफ कहा कि वे किसी भी तरह के अवैध धंधों में शामिल नही है।भाजपा विधायक के बयान के बाद कांग्रेस हमलावर हो चली है और जमकर बयानबाजी कर रही है।

दरअसल, बीते दिनों  भाजपा के पूर्व चंदला विधायक आरडी प्रजापति ने जिले के कांग्रेसी विधायकों सहित राजनेताओं पर अवैध रेत परिवहन करने वालों को संरक्षण देने का आरोप लगाए थे। इसके साथ ही उन्होंने छतरपुर कलेक्टर सहित मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर सूचित किया। जिस पर कांग्रेस के छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी पज्जन ने पटलवार करते हुए पूर्व विधायक सहित उनके विधायक बेटे पर रेत कारोबार में लिप्त होने की बात कही थी।आलोक ने प्रजापति और उनके वर्तमान चंदला विधायक बेटे राजेश प्रजापति सहित रुद्र पटेल पर चंदला क्षेत्र से अवैध रेत परिवहन करने वालों को संरक्षण देने का आरोप लगाया था। आलोक चतुर्वेदी के आगे कहा था कि यह वही कहावत हुई कि चोर मचाए शोर।  जो खुद चोर है वह हल्ला मचाता है,आरडी प्रजापति स्वयं और उनके बेटे एवं उनके पूर्व संरक्षण रूद्र पटेल रेत के मामले में संलिप्त है और दूसरों पर आरोप लगा रहे है। जिस पर आज आरडी प्रजापति के बेटे और वर्तमान चंदला से भाजपा विधायक राजेश प्रजापति ने प्रेसवार्ता कर जिले के कांग्रेस नेताओं और आलोक प्रजापति पर गंभीर आरोप लगाए। 

राजेश ने कहा कि छतरपुर से कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी (पज्जन) के साथ जिले के अन्य कांग्रेसी विधायकों पर सिंडिकेट के माध्यम से रेत का अबैध कारोबार करने कर रहे है। कांग्रेस के सभी विधायकों ने एकजुट होकर स्थानीय एवं बाहरी रेत माफियाओं के साथ मिलकर क्षेत्र में दिन रात मशीनों के माध्यम से अवैध रेत उत्खनन एवं परिवहन कर NGT के नियमों को ताक में रखकर शासन को भी लाखों का चूना लगा रहे हैं। राजेश ने कहा कि आलोक चतुर्वेदी, गुलाब यादव, कार्यकारी अध्यक्ष , राजकुमार पटेल माफिया इनमें शामिल है और एक रविन्द्र सिंह है जो छतरपुर और टीकमगढ़ में डीजियाना चलाते रहे है वो भी इसमें शामिल है। मेरी शासन प्रशासन से मांग है कि इन पर कार्रवाई करे।