खरगोन।

सीएए को लेकर देशभर में अब भी सियासत गर्म है। प्रदेश में भी इसका खासा असर देखा जा रहा है। जगह जगह प्रदर्शन कर विरोध जताया जा रहा है, हालांकि सरकार ने इसे प्रदेश में लागू ना करने की बात कही है। जिसके चलते नेताओं की बयानबाजी ने रफ्तार पकड़ ली है।अब इंदौर की विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-2 के विधायक रमेश मेंदोला ने सीएम कमलनाथ पर बड़ा आरोप लगाया है।मेंदोला का आरोप है कि नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरुद्ध षड़यंत्र में सीएम कमलनाथ भी शामिल है।

दरअसल, शुक्रवार को मेंदोला खरगोन पहुंचे थे और मुख्यमंत्री कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा।उन्होंने कहा कि देशभर में सीएए के विरुद्ध विपक्षी दलों के षड़यंत्र में मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री कमलनाथ भी शामिल हैं। वे वोटों की लालच में सबकुछ जानकर कानून को प्रदेश में लागू नहीं करने की बात कह रहे हैं। जबकि नागरिकता देना और नहीं देना यह राज्यों का विषय ही नहीं होता।  नागरिकता देश की होती है, प्रदेश की नहीं। यह कमलनाथ भी भली-भांति जानते हैं, लेकिन दुर्भाग्य से इस मानवीय विषय पर भी वे वोटों की फसल उगाने का प्रयास कर रहे हैं।

इतने पर ही वे रुके नही और आगे कहा कि क्या, ऐसे लोग पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान में निवासरत अल्पसंख्यकों के कत्लेआम, मंदिरों की तोड़फोड़ और संपत्ति को आग लगाने की आतंकी कार्रवाई का समर्थन नहीं कर रहे? नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों को देश को यह बताना चाहिए कि अगर ये पीड़ित शरणार्थी भारत में शरण नहीं लेंगे या भारत इन्हें नागरिकता नहीं देगा तो दुनिया में कौन-सा ऐसा देश है, जो इन्हें नागरिकता देने के लिए तैयार होगा? उन्होंने कहा कि सरकार ने तो केवल वही काम किया है, जिसका आदेश महात्मा गांधी ने 26 सितंबर 1947 को दिया था।