विज्ञापन पॉलिटिक्स: भाजपा विधायक ने साधा निशाना, बोले- ‘साबित हुआ कमलनाथ मजबूर सीएम’

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा जारी विज्ञापन अब पार्टी के लिए गले की फांस बनता जा रहा है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के जन्मदिन पर एक विज्ञापन जारी किया गया है। इसमें उनकी कई खासियत के साथ ही कुछ विवादित बातें भी बताई गई हैं। विज्ञापन के प्रकाशित होने के बाद अब विपक्ष को कांग्रेस को आड़े हाथ लेने का मौका भी मिल गया है। भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने कांग्रेस पार्टी पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने बयान दिया है कि, ‘कमलनाथ जी का आज जन्मदिन है उनके जन्मदिन के अवसर पर मध्यप्रदेश काँग्रेस कमेटी ने जो विज्ञापन जारी किया है उसमें स्पष्ट कर दिया है की दिग्विजय सिंह के छोटे भाई विधायक लक्ष्मण सिंह ने जो कहा था की मुख्यमंत्री कमलनाथ मज़बूत नहीं मजबूर मुख्यमंत्री है उसपर अपनी मोहर लगा दी है।

उन्होंने विज्ञापन में किए गए दावे को आधार बनाते हुए बड़ा हमला बोला। उन्होंंने कहा कि, इस विज्ञापन से कांग्रेस नेताओं ने बता दिया है कि कमलनाथ अपने छिंदवाड़ा मोडल नहीं बल्की दिग्विजय सिंह की वजह से सीएम बने हैं।  राजा जी के बिना इस सरकार का कोई आधार नहीं है। जब जब जैसा जैसा राजा जी ने चाहा वैसा ही हुआ है और आगे भी होता रहेगा। जन्मदिन वाले दिन कमलनाथ ने अपने ही नेतृत्व वाली कांग्रेस से ऐसे उपहार की कल्पना नहीं की होगी।

गौरतलब है कि कांग्रेस कमेटी द्वारा मुख्यमंत्री कमलनाथ के जन्मदिन पर एक विज्ञापन जारी किया गया है। इसमें दावा किया गया है कि कमलनाथ दिग्विजय सिंह की अनुशंसा पर मुख्यमंत्री बने हैं। साथ ही इस विज्ञापन में सीएम कमलनाथ के बारे में उनकी हार का भी जिक्र किया गया है। इस विज्ञापन से पार्टी के अंदर काफी खलबली मच गई है। सोशल मीडिया पर भी जमकर यह सवाल उठाए जा रहे हैं कि पार्टी के अंदर की कलाह एक बार फिर सबके सामने आ गई है। इस विज्ञान से कमलनाथ समेत सिंधिया को भी निशाने पर लिया गया है। माना जा रहा है कि अगर दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ का नाम केंद्रीय नेतृत्व के सामने रखा था तो इसका मतलब साफ हुआ कि वह नहीं चाहते थे सिंधिया सीएम की कुर्सी पर बैठे।