अपने समर्थक को जिला अध्यक्ष बनाने के लिए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने खुद तोड़े नियम

भोपाल (पवन देवलिया)। भारतीय जनता पार्टी ने 75 पार के नेताओं को टिकट न देने के फॉर्मूले के बाद एक और नया नियम बनाया था। नियम के तहत जिला अध्यक्ष और मंडल अध्यक्षों के लिए भी उम्र का बंधन लागू किया गया था। पार्टी ने तय किया था कि 50 साल से ज्यादा की उम्र वालों को जिला और नगर अध्यक्ष नहीं बनाया जाएगा। जबकि 35 साल से ज्यादा उम्र वालों को मंडल अध्यक्ष  पद नहीं दिया जाएगा। वहीं इससे उलट भाजपा द्वारा जारी जिला अध्यक्ष की सूची में नियम की खुलकर उल्लंघन किया गया है। 

मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी में गुटबाजी चरम पर है। पार्टी द्वारा तय की गई गाइडलाइन के अनुसार 55 वर्ष से अधिक उम्र के नेता को भाजपा का जिला अध्यक्ष नहीं बन सकता। लेकिन कटनी में सभी नियम को शिथिल करते हुए 56 वर्षीय रामरतन पायल को जिलाध्यक्ष बनाया गया है। रामरतन पायल भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह के खास समर्थक बताए जाते हैं। स्थानीय स्तर पर भाजपा के सभी विधायकों ने और नेताओं ने रामरतन पायल का विरोध भी किया था। इसके बाद भी नियमों को शिथिल करते हुए पायल को कटनी भाजपा जिला अध्यक्ष घोषित किया गया है।