भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने बताया अनुशासन का दायरा, गौर को भी दी नसीहत

BJP-state-president-warning-to-party-leader-remain-in-discipline-

भोपाल। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने शनिवार को पार्टी नेताओं को अनुशासन का पाठ पढ़ाया। उन्होंने कहा कि पार्टी का कोई भी नेता हो अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर को भी टारगेट कर कहा कि वह भी इस दायरे में आते हैं। असल में बाबूलाल गौर लगातार पार्टी की आंखों की किरकिरी बने हैं। चुनाव से पहले और बाद में लगातार वह पार्टी लाइन से हट कर बयान देते आ रहे हैं। इसके अलावा हाल ही में उज्जैन सांसद चिंतामणि मालवीय पर भी आरोप है कि उन्होंंने पुलिस के साथ दुर्व्यवहार किया था। सिंह ने ऐसे सभी नेताओं को नसीहत देने का काम किया है। 

दरअसल, गौर पिछले कई दिनों से पार्टी ने निशाने पर हैं। पार्टी ने उम्र का हवाला देते हुए इस बार उनका टिकट काट दिया। लेकिन तमाम दबाव के बाद पार्टी को उनकी बहू को टिकट देना पड़ा। मतदान के बाद से ही गौर के बयान से भाजपा सुर्खियों में लगातार बनी है। उन्होंने कांग्रेस के राजधानी उत्तर विधानसभा प्रत्याशी आरिफ अकील को जीत की बधाई भी दी थी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि कांग्रेस सरकार बना रही है और वह मंत्री बन रहे हैं। एक वीडियो भी जमकर वायरल हुआ। जिसके बाद पार्टी नेताओं को डैमेज कंट्रोल करने पड़ा। उसके बाद एग्जिट पोल के दौरान भी उन्होंने कई बड़े बयान दिए थे। 

उन्होंने कहा था कि पार्टी के दिग्गज नेता सरतार सिंह भाजपा में अपमान हुआ। उन्हें पार्टी ने अपमानित किया। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा था कि अगर प्रदेश में भाजपा चुनाव हारती है तो इसके जिम्मेदार पूरी पार्टी और प्रदेश के मुखिया होंगे। उन्होंने नाम लिए बिना ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा था। इससे पहले भी विधानसभा में समय समय पर गौर पार्टी के खिलाफ ही मोर्चा खोलते रहे हैं।