BJP-takes-big-step-ban-on-leaders-spokespersons-discussing-with-media

भोपाल।

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस ने एक महिने के लिए अपने प्रवक्ताओं पर टीवी डिबेट  में जाने और मीडिया से चर्चा करने पर बैन लगा दिया था। अब बीजेपी ने अपने नेताओं और  प्रवक्ताओं को मीडिया से चर्चा करने के लिए मना कर दिया है। प्रदेश बीजेपी ने आदेश जारी कर कहा है कि कोई भी प्रवक्ता , नेता और पैनलिस्ट मीडिया से जम्मू-कश्मीर, आंतकवाद और हिन्दू मुस्लिम संबंधों पर चर्चा ना करे।हालांकि यह प्रतिबंध कब तक है यह स्पष्ट नही है।

भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने बताया कि नेतृत्व का निर्देश है कि भाजपा के किसी भी नेता को फिलहाल जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर ,आतंकवाद के संबंध में अथवा किसी भी प्रकार के हिंदू- मुस्लिम संबंधों को लेकर मीडिया से कोई चर्चा नहीं करनी है। अभी प्रवक्तागण और पैनलिस्ट भी डिबेट में नहीं जाएंगे। नेतृत्व से प्राप्त इस निर्देश का पालन करना सभी के लिए अनिवार्य है। 

सुत्रों की माने तो बीजेपी को डर है कि कही प्रवक्ता या पैनलिस्ट डिबेट के दौरान ऐसी वैसी बात ना कर दे जो पार्टी पर भारी पड़े। या फिर किसी प्रकार की बयानबाजी हो जिससे जनता के बीच गलत मैसेज जाए, इसी के चलते सभी को जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर बोलने पर बैन लगा दिया गया है।   

बता दे कि इन दिनों जम्मू-कश्मीर में तनाव के हालात बने हुए है। देर रात पूर्व मुख्मंत्री महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला को उनके घर में नजरबंद कर लिया गया। दोनों के घरों के बाहर पुलिस लगा दी गई है। कश्मीर में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। इसके अलावा कश्‍मीर में देर रात धारा 144 लगाने का फैसला भी किया गया। जम्‍मू में यह धारा सुबह 6 बजे से प्रभावी हो जाएगी।इसी के साथ सुरक्षा प्रबंध और कड़े कर दिए गए। सीआरपीएफ की 40 अतिरिक्‍त कंपनियों को रात में तैनात किया गया।सभी स्कूलों, कॉलेजों और शैक्षणिक संस्थानों की निजी और सरकारी दोनों तरह की कक्षाओं को अगले आदेश तक 5 अगस्त तक निरस्‍त रखा जाएगा। साथ ही कश्‍मीर यूनिवर्सिटी की 10 अगस्‍त तक होने वाली परीक्षाएं भी स्‍थगित कर दी गईं हैं।