MP : उपचुनाव के बाद निकाय चुनाव में जीत के लिए यह है BJP का मास्टर प्लान

पिछली बार हुए चुनाव में बीजेपी ने सभी 16 नगर निगम की सीटों पर क्लीन स्वीप कर अपना कब्जा जमाया था। वहीं ज्यादातर बड़ी नगर पालिका और नगर परिषद पर भी बीजेपी के प्रत्याशी ही जीते थे। इस बार भी बीजेपी अपना पिछला प्रदर्शन दोहराना चाहेगी।

bjp

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। MP उप-चुनाव (By-election) में मिली प्रचंड जीत के बाद अब बीजेपी (BJP) निकाय चुनाव (Body Election) में जुट गई है और इसकी तैयारियां भी शुरू कर दी है। इलेक्शन कैम्पेन (Election Campaign) की माहिर बीजेपी (BJP) आभार रैली (Abhar Rally) के बहाने नगरीय निकाय चुनाव प्रचार का आगाज़ करने जा रही है। 15 दिसंबर के बाद कभी भी यह रैली शुरू हो जाएगी। पार्टी संगठन रैली का पूरा खाका तैयार करने में जुटा हुआ है। इसे निकाय चुनाव में जीत के लिए बीजेपी का मास्टर प्लान माना जा रहा है।

गौरतलब है कि पिछली बार हुए चुनाव में बीजेपी ने सभी 16 नगर निगम की सीटों पर क्लीन स्वीप कर अपना कब्जा जमाया था। वहीं ज्यादातर बड़ी नगर पालिका और नगर परिषद पर भी बीजेपी के प्रत्याशी ही जीते थे। इस बार भी बीजेपी अपना पिछला प्रदर्शन दोहराना चाहेगी। जिसकी तैयारियां पार्टी ने अभी से ही शुरू कर दी है।

संगठन सूत्रों की मानें तो सीएम ने इन रैलियों के कार्यक्रम संगठन से 15 दिसंबर के बाद तय करने को कहा है। तब तक नगर निगम के आरक्षण की स्थिति भी सामने आ जाएगी। उपचुनाव में भाजपा को 19 सीटों पर जीत मिली है और 9 सीटों पर उसके हार का सामना करना पड़ा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) आभार रैली करने उन क्षेत्रों में जाएंगे जहां भाजपा के प्रत्याशियों को उपचुनाव में जीत या हार मिली है। इन विधानसभा क्षेत्रों में वह नगरी निकाय चुनाव के लिए भी पार्टी के पक्ष में माहौल तैयार करेंगे।

इस प्लान पर बीजेपी का विशेष फोकस

नगरी निकाय चुनाव के लिए भाजपा ने संघ के अनुशांगिक संगठनों को भी सक्रिय किया है। यह अनुशांगिक संगठन अभी से पार्टी के पक्ष में काम करने में जुट गए हैं। इन विधानसभा क्षेत्रों के साथ सीएम आसपास के बड़े शहरों में भी कार्यकर्ता सम्मेलन में हिस्सा लेंगे और उन्हें सक्रिय करेंगे। सीएम उपचुनाव वाले क्षेत्रों में विधानसभा उपचुनाव के समय का घोषणा पत्र (Manifesto ) भी साथ लेकर जाएंगे और जनता को बताएंगे कि इन घोषणाओं को सरकार किस तरह और कब तक पूरा करेगी। इस रैली के माध्यम से पार्टी का जनता का मूड परखने के साथ ही उन्हें यह भी समझाएगी की समुचित विकास के लिए नगर सरकार भी भाजपा की होनी जरूरी है। रैली में संबंधित क्षेत्र के मंत्री और संगठन के बड़े नेता भी शामिल होंगे।