भोपाल।

महाराष्ट्र में रातों रात बदले समीकरणों के बाद मध्य प्रदेश के सियासी गलियारों में हलचल शुरू हो गई है।कांग्रेस बीजेपी नेताओं के बीच बयानबाजी का दौर तेजी से चल पड़ा है।बीजेपी में जहां उत्साह औऱ जश्न का माहौल है वही कांग्रेस ने इसकी निंदा की है।कांग्रेस ने अचानक हुए इस सियासी घटनाक्रम पर सवाल खड़े किए है। इसी बीच कमलनाथ सरकार में जनसपंर्क मंत्री पीसी शर्मा का बड़ा बयान सामने आया है।

पीसी शर्मा का कहना है कि महाराष्ट्र भी हरियाणा हो गया है, लेकिन पूर्ण बहुमत नहीं मिल पाएगा।ये आंकडा नही पार कर पाएंगें। शरद पवार साथ नहीं देने वाले है। पीएम मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पास एक ही एजेंडा है, कैसे भी जोड़-तोड़ करके सरकार बनाओ।मप्र में कमलनाथ थे, इसलिए यहां बीजेपी कुछ नहीं कर पाई।वे एक मजबूत नेता है।वरना बीजेपी ने हर राज्य मे यही किया है और लोकतंत्र की हत्या की है। वही रातों रात महारष्ट्र के समीकरण बदलने पर कैबिनेट मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि जनता के साथ बीजेपी ने धोखा किया। महाराष्ट्र में प्रजातंत्र की हत्या हुई है । हम इसकी निंदा करते है ।

बता दे कि शनिवार सुबह महाराष्ट्र में एकदम चौंकाने वाला राजनीतिक घटनाक्रम हुआ। यहां भाजपा और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने मिलकर सरकार बना ली। भाजपा के देवेंद्र फडणवीस ने दोबारा मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और एनसीपी नेता और शरद पवार के भतीजे अजित पवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई।चुंकी अभी तक एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना तीनों के मिलकर सरकार बनाने की बात सामने आ रही थी, उद्वव ठाकरे को सीएम बनाया जाना था, लेकिन ऐलान के पहले ही सबकुछ बदल गया। रातोंरात बदली इस तस्वीर ने सियासी गलियारों में खलबली मचा कर रख दी है।