भोपाल। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को लेकर हलचल तेज हो गई हैं।  कांग्रेस सरकार के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के कांतिलाल भूरिया को प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपने वाले बयान के बाद राजनैतिक गलियारों में अध्यक्ष के नाम को लेकर हवाएं तेज चलने लगी हैं। जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि सज्जन सिंह वर्मा वरिष्ठ मंत्री है। उन्होंने सोच समझकर ही कहा होगा। कांतिलाल भूरिया हमारे वरिष्ठ नेता है उनका मार्गदर्शन हमें हमेशा मिलता रहता है। सरकार का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि,  हालांकि अभी प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ हैं केंद्रीय नेतृत्व और प्रदेश अध्यक्ष तय करेंगे कि आने वाला प्रदेश अध्यक्ष कौन होगा।

वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद के नाम को लेकर चल रही खींचतान को लेकर पूर्व मंत्री विश्वास सारंग ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांगेस गुटों और गिरोह में बटी हुई पार्टी है। हर मंत्री का बयान कहीं पर निगाहें कहीं पर निशाना होता है। कोई कहता है बाला बच्चन, कोई कहता ज्योतिरादित्य सिंधिया को बना दो, तो कोई कहता है दिग्विजयसिंह को ही अध्यक्ष बनाया दो, लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मन मैं विचार कर लिया है कि मेरा टेसू यही अड़ा खाने जो मांगे दही बड़ा। कोई परिवर्तन नहीं होगा जब तक कमलनाथ  नहीं चाहेंगे।