CBSE: खतरें में बच्चों का भविष्य, 10वीं-12वीं के लाखों छात्र परेशान, ये है कारण

बच्चों की मांग है कि CBSE जल्द से जल्द स्कूलों को मार्कशीट उपलब्ध कराएं ताकि बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ ना हो

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। CBSE 10वीं -12वीं की परीक्षा परिणाम (results) घोषित कर दिए गए हैं लेकिन बावजूद इसके 1 लाख 20 हज़ार बच्चों को बड़ा झटका लगा है। दरअसल CBSE द्वारा स्कूलों को मार्कशीट उपलब्ध नहीं कराए जाने की स्थिति में बच्चे आगे की पढ़ाई के लिए फॉर्म (form) भरने से वंचित हो रहे हैं। इसके अलावा उन्हें TC के लिए भी काफी मशक्कत करनी पड़ रही है।

छात्रों और अभिभावकों ही नहीं बल्कि प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन (Private school association) भी मान रहे हैं कि CBSE द्वारा मार्कशीट उपलब्ध नहीं कराए जाने से स्कूली छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। मामले में अभिभावकों का कहना है कि सीबीएसई द्वारा स्कूलों में मार्कशीट नहीं भेजे जाने की स्थिति में वह अपने बच्चों को पढ़ाई के लिए बाहर नहीं भेज पा रहे हैं।

वही CBSE 10वीं और 12वीं की मार्कशीट ना होने की वजह से कई बच्चों को कॉलेजों में एडमिशन (admission) नहीं मिल पा रही है जब भी कॉलेज में एडमिशन की आखिरी तारीख भी निकल रही है। बच्चों की मांग है कि CBSE जल्द से जल्द स्कूलों को मार्कशीट उपलब्ध कराएं ताकि बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ ना हो।

कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा 2021 के परिणाम घोषित करने के महीनों बाद, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) जल्द ही अंकतालिका जारी करने की उम्मीद कर रहा है क्योंकि छात्रों का एक वर्ग कॉलेजों और संस्थानों के बाद स्कोरकार्ड (scorecard) की हार्ड कॉपी (hardcopy) की मांग कर रहा है। दिल्ली ने उन्हें प्रवेश प्रक्रिया के लिए दस्तावेज जमा करने के लिए कहा।

Read More: दिवाली से पहले कर्मचारियों को मिलेगी खुशखबरी, DA वृद्धि पर आई बड़ी अपडेट, इतनी होगी सैलरी

एक पोर्टल से बात करते हुए CBSE के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि बोर्ड द्वारा प्रक्रिया शुरू करने के बाद कक्षा 10 और 12 के छात्रों को जल्द ही मार्कशीट की हार्ड कॉपी मिल जाएगी। विशेष रूप से छात्र अपने संबंधित स्कूलों से अपनी मार्कशीट प्राप्त कर सकते हैं। CBSE ने कहा है कि वह आने वाले दिनों में संबद्ध संस्थानों को मार्कशीट उपलब्ध कराएगा।

आपको बता दें कि सीबीएसई कक्षा 10 की परीक्षा 2021 के लिए देशभर के करीब 18 लाख छात्र-छात्राओं ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया था। कोरोना के कारण दूसरी साल सीबीएसई (CBSE 10th Exam) की परीक्षाएं रद्द हो गई थीं जिसके कारण रिजल्ट आंतरिक मूल्यांकन से तैयार किया गया है।हाल ही में 12वीं रिजल्ट घोषित किया गया है, जिसमें इस साल सीबीएसई 12वीं परीक्षा में कुल 99.37 फीसदी छात्रों को सफल घोषित किया गया है।