Electricity Bill: मप्र बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत, इन शिकायतों का होगा निवारण

Electricity Bill

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बिजली उपभोक्ताओं (Electricity Consumers) के लिए राहत भरी है। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के निर्देशानुसार मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कार्यक्षेत्र के उपभोक्ताओं को बेहतर सेवाएँ देने और निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के उद्देश्य से कंपनी के मैदानी अधिकारियों द्वारा प्रत्येक वितरण केन्द्र का निरीक्षण किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. MP Board : बुधवार शाम 4 बजे जारी होगा 10वीं का रिजल्ट, इस बार नहीं बनेगी मेरिट लिस्ट

दरअसल, ऊर्जा मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar) ने अधिकारियों को सतत निरीक्षण और निगरानी के निर्देश दिये हैं। कंपनी द्वारा चालू माह में मैदानी मुख्य महाप्रबंधक, महाप्रबंधक, उपमहाप्रबंधकों को अपने अधीनस्थ वृत्त कार्यालय, संभाग कार्यालय, जोन एवं वितरण केन्द्र कार्यालयों के निरीक्षण के लिए पाबंद किया गया है। कंपनी का मानना है कि इस निरीक्षण अभियान से एक ओर जहाँ उपभोक्ताओं की शिकायतें जल्दी हल होंगी, वहीं दूसरी ओर विद्युत प्रणाली के सुधार में मदद मिलेगी।

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी (Central Zone Electricity Distribution Company) के प्रबंध संचालक गणेश शंकर मिश्रा ने कहा है कि इस प्रकार का निरीक्षण प्रति माह संचालित किया जाएगा। इस अभियान के अंतर्गत किये जाने वाले कार्यों से उपभोक्ताओं को सही समय पर सही बिजली बिल मिलना, सही राशि के बिल, गलत बिल जारी नहीं होना, ऑनलाइन बिल जनरेट होना, ऑनलाइन पेमेंट अपडेट होना, मीटर संबंधी शिकायतें, समय पर सही रीडिंग होना, ट्रांसफार्मर संबंधी शिकायतें, विद्युत प्रदाय संबंधी शिकायतें, नवीन कनेक्शन संबंधी शिकायतों का निरीक्षण एवं निराकरण किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. New Transfer Policy: PWD विभाग के निर्देश-7 दिन में ऐसा नहीं किया तो होगी कार्रवाई

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक ने कहा कि कंपनी के राजस्व को बढ़ाने के उपायों पर प्रभावी अमल किया जाएगा। चालू माह में रोस्टर के अनुसार महाप्रबंधक एवं उपमहाप्रबंधक कंपनी कार्यक्षेत्र के सभी वृत्तों, संभागों, वितरण केन्द्र और जोन का निरीक्षण करेंगे।उपमहाप्रबंधक के लिए भी रोस्टर निर्धारित किया गया है। इसके अतर्गत प्रत्येक उपमहाप्रबंधक अपने कार्यक्षेत्र के वितरण केन्द्र एवं जोन का निरीक्षण करेंगे। इस अभियान के अंतर्गत चालू जुलाई माह में कंपनी कार्यक्षेत्र के 133 वितरण केन्द्र और जोन, उपकेन्द्र आदि का निरीक्षण किया जाएगा।

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक ने कहा कि निरीक्षण रोस्टर के अंतर्गत मैदानी अधिकारियों द्वारा निरीक्षण के दौरान स्वीकृत पद, कार्यरत कर्मचारी और रिक्त पदों की जानकारी हासिल की जाएगी। वही ऑडिट व्यय का विवरण, कार्मिकों के प्रशासनिक मामले, उच्च वेतनमान प्रकरण, पेंशन प्रकरण, अनुकंपा नियुक्ति के मामले, विद्युत दुर्घटनाओं से संबंधित मामले, विद्युत सामग्री की चोरी के मामले, कार्यालयीन कर्मचारियों की वर्किंग कंडीशन जैसे कार्यालय में पंखे, कूलर, फर्नीचर, पीने का पानी, राजस्व मामले, लाईन कर्मचारियों से राजस्व से संबंधित समीक्षा, कार्य के दौरान लाईनमेन की सुरक्षा संबंधी उपकरणों के उपयोग आदि के अलावा विभिन्न निर्धारित रजिस्टरों का संधारण आदि का निरीक्षण किया जाएगा।

इन शिकायतों का होगा निवारण

इन शिकायत निवारण शिविरों में बिजली बिल (Electricity Bill) संबंधित शिकायतें जिनमें समय पर बिल वितरण नहीं होना और प्राप्त नहीं होना, अधिक राशि के बिल, गलत बिल जारी होना, ऑनलाइन बिल जनरेट नहीं होना, ऑनलाइन पेमेंट अपडेट नहीं होना, मीटर संबंधी शिकायतें जिनमें समय पर रीडिंग नहीं होना, गलत रीडिंग, देरी से रीडिंग होना, ट्रांसफार्मर संबंधी शिकायतें, विद्युत प्रदाय संबंधी शिकायतें, नवीन कनेक्शन संबंधी शिकायतों का त्वरित निराकरण किया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Update: मप्र के इन जिलों में आज बारिश के आसार, जानें अन्य राज्यों का हाल