शूटर दादी के नाम से विख्यात चंद्रो तोमर का कोरोना से निधन, अस्पताल में चल रहा था इलाज

शूटर दादी बागपत में बिनौली के जोहड़ी से ताल्लुख रखती थी और आज उनका देहांत मेरठ मेडिकल कॉलेज में कोरोना के चल रहे इलाज के दौरान हो गया। बताया जा रहा है कि उन्हें गुरुवार को ही बागपत के आनन्द हॉस्पिटल से मेरठ के मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया था।

शूटर दादी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शूटर दादी (shooter dadi) या निशानेबाज दादी के नाम से प्रख्यात वयोवृद्ध (elderly) महिला चंद्रो तोमर (chandro tomar) को कोरोना (corona) ने ग्रसित कर लिया था जिससे उनका आज यानी कि शुक्रवार (friday) को निधन (death) हो गया। 2019 में आई फ़िल्म सांड की आंख (film saand ki aankh) निशानेबाज दादी चंद्रो तोमर और उनकी बहन प्रकाशी तोमर के जीवन पर ही आधारित थी। इसी फिल्म के बाद दादी चंद्रो की प्रतिभा को दुनियाभर में पहचान मिली थी। चंद्रो अपनी निशानेबाजी की वजह से शूटर दादी के नाम से फेमस थीं।

यह भी पढ़ें… मंत्री सारंग का बयान, कहा मेरी जितनी भी विधायक निधि है उसको कोरोना संकट में जहां खर्च करना है करिए

शूटर दादी बागपत में बिनौली के जोहड़ी से ताल्लुख रखती थी और आज उनका देहांत मेरठ मेडिकल कॉलेज में कोरोना के चल रहे इलाज के दौरान हो गया। बताया जा रहा है कि उन्हें गुरुवार को ही बागपत के आनन्द हॉस्पिटल से मेरठ के मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया था। शूटर दादी के परिजनों ने उनकी मौत की वजह ब्रेन हैमरेज बताई है। शूटर दादी तीन दिन पहले कोरोना की चपेट में आई थी। ये जानकारी उन्होंने अपने ट्विटर के आधिकारिक अकाउंट से लोगों को दी थी। ये भी लिखा था कि सांस की परेशानी के चलते वे अस्पताल में भर्ती हैं।

यह भी पढे़ं… अस्पताल संचालक ब्लैक में बेच रहा था रेमडेसिवीर इंजेक्शन, मेडिकल स्टोर मालिक समेत गिरफ्तार

आपको बता दें कि शूटर दादी ने निशानेबाजी में कई बड़ी बड़ी प्रतियोगिताएं जीती हैं। इतना ही नहीं उन्हें विश्व की सबसे उम्रदराज निशानेबाज भी माना जाता है। दादी चंद्रो की बहन प्रकाशी भी विश्व के उम्रदराज निशानेबाजों में से एक हैं। 2019 में आई फ़िल्म सांड की आंख के पहले इनकी प्रतिभा से प्रभावित होकर आमिर खान ने भी दोनों निशानेबाज बहनों को अपने शो ‘सत्यमेव जयते’ में बुलाया था।