छिंदवाड़ा, विनय जोशी। समूचे मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की तरह छिंदवाड़ा (Chhindwara) जिले में भी वैक्सीनेशन महा अभियान चलाया जा रहा है। लेकिन जिले के सौंसर विधानसभा (Sausar Assembl) के लोधीखेड़ा ग्राम के सामुदायिक भवन में उस समय भगदड़ मच गई, जब सैकड़ों की संख्या में लोग टीका लगवाने पहुंच गए। दरअसल वैक्सीनेशन सेंटर पर 250 लोगों को टीका लगना था। लेकिन वहां करीबन हजार से ज्यादा लोग पहुंच गए। जिसके बाद सेंटर में भगदड़ मच गई। जिसका वीडियो सामने आया है। वहीं वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि वहां किसी भी तरह की कोई सुरक्षा व्यवस्था नहीं की गई थी।

यह भी पढ़ें…ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर को कोई गंभीर चोट नहीं, मंच से गिरने के बाद जांच रिपोर्ट सामान्य

जनता के लिए सरकार वैक्सीनेशन के लिए महा अभियान चला रही है और लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक कर रही है। इसी तर्ज पर मध्य प्रदेश में 3 जुलाई तक महा अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें जनता को फ्री वैक्सीन लगाई जा रही है। वहीं लोगों में भी टीकाकरण को लेकर खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। पर पीके कम और लोग ज्यादा होने के कारण लोगों को वैक्सीन की जगह निराशा हाथ लग रही।

ऐसा ही कुछ नजारा सौंसर के लोधी खेड़ा में देखने को मिला। वीडियो में आप साफ़ देख सकते हैं कि लोग टीकाकरण के लिए काफी देर से इंतजार कर रहे हैं और वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर लोगों का हुजूम लगा हुआ है। काफी देर तक लोग टीका आने का इंतजार करते रहे। और इंतजार में बाहर काफी भीड़ लग गई। वहीं जब लोगों की संख्या हजार तक पहुँच गई। जिसके बाद प्रशासन ने सामुदायिक भवन का शटर बंद कर दिया। ताकि और लोग वहां ना पहुंच जाएं। लेकिन पब्लिक मानने को तैयार ही नहीं थी और बड़ी संख्या में लोग शटर खोलकर वैक्सीन लगवाने के लिए सामुदायिक भवन में घुस गए। इससे वहां भगदड़ मच गई। मौके पर किसी तरह के सुरक्षा के इंतजाम भी नहीं थे। वीडियो में कोई गार्ड या पुलिस का जवान भी दिखाई नहीं दे रहा है। जो इन लोगों को रोक सके।

अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि वैक्सीनेशन सेंटर पर जनता के लिए कोई पुख्ता इंतज़ाम क्यों नहीं किये गए थे ? क्योंकि जिस तरह से लोग शटर उठा कर अपनी बारी लगते दिख रहे है ऐसे में कोई बड़ा हादसा भी हो सकता था। कोई भी महिला या पुरुष गंभीर रूप से घायल भी हो सकता था। वहीं इस पूरे मामले में सोशल डिस्टेंसिंग की भी जमकर धज्जियां उड़ाई गई है।

यह भी पढ़ें…National Doctors Day 2021 : कोरोना पॉजिटिव होने के बाद भी लोगों का करते रहे इलाज, पढ़ें डॉ. शैलेंद्र दुबे की कहानी