भोपाल/झाबुआ।

झाबुआ उपचुनाव में मिली जीत से कांग्रेस गदगद है और अब जनता का धन्यवाद करने की तैयारियाों में जुट गई है। खबर है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ 3 दिसंबर को झाबुआ जाएंगें। वे यहां झाबुआ विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस को अब तक की सबसे बड़ी जीत मिलने के बाद मतदाताओं के प्रति आभार व्यक्त करेंगे। माना जा रहा है कि वे इस दौरान झाबुआ को लेकर कई महत्वपूर्ण घोषणा कर सकते है।।वही झाबुआ में अगली कैबिनेट बैठक होनी की भी संभावना है।

दरअसल, चुनाव से पहले कैबिनेट मंत्री पीसी शर्मा ने कहा था कि कांतिलाल भूरिया की जीत के बाद सरकार की अगली कैबिनेट बैठक झाबुआ में होगी ।झाबुआ में होने वाली कैबिनेट बैठक क्षेत्र के विकास के दरवाजों को खोलेगी विकास के नए अवसर पैदा होंगे।  उपचुनाव में रिजल्ट के बाद झाबुआ में आयोजित एक ही कैबिनेट की बैठक में सभी मुद्दों को सुलझाया जाएगा।यहां रहने के दौरान मैंने समझा है कि पिछली सरकार ने सुविधाएं और विकास में कमी रखी है।लेकिन जीत के बाद हमारी सरकार नए विकास के द्वारा खोलेगी।झाबुआ को छिंदवाड़ा जैसा बनाया जाएगा। झाबुआ में मेग्नीफीसेंट MP का असर दिखने की बात भी पीसी शर्मा ने कही थी।इसके बाद  प्रभारी मंत्री सुरेंद्रसिंह बघेल, झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया व युवा नेता डाॅ. विक्रांत भूरिया ने सीएम से मुलाकात कर उन्हें झाबुआ आने का भी न्यौता दिया था।

वही उपचुनाव के दौरान सीएम कमलनाथ ने भी कहा था कि छिंदवाड़ा की तरह झाबुआ भी अब उनका अपना घर है। झाबुआ को वे गोद लेते हुए छिंदवाड़ा की तर्ज पर यहां का विकास करेंगें। कमलनाथ सरकार के मंत्री भी यहां चुनाव प्रचार के दौरान विकास के वादे करने में लगे हुए थे। मतदाताओं ने भरोसा करते हुए बड़ी जीत दे दी। अब कमलनाथ व उनकी सरकार मतदाताओं को काम करते हुए अपने वादे पूरे करना चाहती है।इसके लिए सीएम ने कांतिलाल भूरिया और झाबुआ के स्थानीय विधायकों से भी चर्चा की है।