cm-kamalnath-attack-on-shivraj-for-cag-report-explanation

भोपाल

कैग रिपोर्ट के खुलासे के बाद कांग्रेस हमलावर हो चली है। अब मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज और उनके शासनकाल पर जमकर हमला बोला है। कमलनाथ ने कहा कि विधानसभा के पटल पर रखी गयी  कैग की रिपोर्ट में जिस तरह से पिछली सरकार के कार्यकाल में वित्तीय अनियमित्ताओ व वित्तीय प्रबंधन की कमज़ोरियाँ उजागर हुई है।  उससे यह स्पष्ट हो रहा है कि किस तरह का एक गठजोड़ पिछली सरकार में कार्य कर रहा था। हम सारे मामलों की विस्तृत जाँच करवाएँगे।अभी तो यह ट्रेलर है , अभी पूरी पिक्चर बाक़ी है। मैं तो पहले भी कह चुका हूँ कि अभी कई ख़ुलासे होंगे।देखते जाइये।

कमलनाथ ने कहा कि हम तो शुरू से ही कह रहे है कि पिछली सरकार में बड़ा भ्रष्टाचार का खेल खेला गया है। भ्रष्टाचार को अंजाम दिया गया। करोड़ों रुपये के नुक़सान की बात सामने आयी है। हम सारे मामलो की जाँच करवाएँगे। हम एक जन आयोग बनाएँगे।सारे मामले उसको सौंपेगे।किसी को बख्शेंगे नहीं। सरकारी ख़ज़ाने को नुक़सान पहुँचाने वालों को छोड़ेंगे नहीं।सभी दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करेंगे।कमलनाथ ने कहा कि अभी तो यह ट्रेलर है , अभी पूरी पिक्चर बाक़ी है। मैं तो पहले भी कह चुका हूँ कि अभी कई ख़ुलासे होंगे।देखते जाइये।

गौरतलब है कि कैग की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार के दौरान प्रदेश में करोड़ों रुपए का घोटाला किया गया है। वाणिज्यिक कर, उत्पाद शुल्क, वाहन कर, स्टॉम्प पंजीकरण शुल्क, खनन, जल कर में ये घोटाला किया गया. इस वजह से प्रदेश के सरकारी ख़ज़ाने को कुल मिलाकर 6270.37 करोड़ का नुकसान हुआ। शिवराज सरकार के दौरान प्रदेश की पेंच परियोजना में करीब 376 करोड़ की अनियमितता की गयी। इसी तरह सार्वजनिक उपक्रमों से 1224 करोड़ का नुक़सान हुआ। कैग की रिपोर्ट में जनजाति के लिए विद्यालय, छात्रावास के संचालन में 147.44 करोड़ की अनियमितता उजागर की गयी है।जल संसाधन विभाग, लोक निर्माण विभाग, नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण की 9557.16 करोड़ की कुल 242 योजनाओं में से 24 परियोजना की 4800.14 करोड़ लागत बढ़ी।