निवेश से खुलेंगे मध्य प्रदेश में रोजगार के द्वार

cm-kamalnath-will-meet-industrialist-in-Mumbai

भोपाल। निवेश और रोजगार का मध्य पदेश में लम्बे समय से सूखा है, इस सूखे को ख़त्म करने के लिए मुख्यमंत्री ने तैयारी कर ली है, प्रदेश में रोजगार का रास्ता खोलने और प्रदेश में उद्योग का माहौल बनाने के लिए सीएम कमलनाथ मुख्यमंत्री कमलनाथ गुरुवार को मुंबई में देश के प्रमुख उद्योगपतियों के साथ गोलमेज कॉन्फ्रेंस करेंगे।  इस दौरान निवेशकों को मध्य प्रदेश में उद्योग लगाने के लिए निवेशकों को प्रदेश में हरसंभव मदद का आश्वासन दिया जाएगा, साथ ही उद्योगपतियों से प्रदेश की नई निवेश नीति को लेकर सुझाव लिए जाएंगे। सीएम का मानना है कि निवेश आने से ही आर्थिक गतिविधियां बढ़ेंगी और रोजगार के नए मौके पैदा होंगे। उद्योगपतियों से बातकर निवेश को लेकर उनकी सोच के बारे में जानेंगे और फिर नई निवेश नीति बनाएंगे। कमल नाथ ने बुधवार शाम को मुम्बई में रिलायंस इंडस्ट्री के चेयरमैन मुकेश अंबानी से मुलाक़ात की। मुख्यमंत्री ने अंबानी को मप्र में एग्रो एवं फ़ूड प्रोसेसिंग क्षेत्र के साथ-साथ विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं के बारे में बताया।

इससे पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुंबई जाने से पहले कहा कि हमारी नई निवेश नीति हर जिले की जरूरत के मुताबिक अलग-अलग होगी। रोजगार और आर्थिक गतिविधियाँ बढ़ें यह हमारी नई रोजगार नीति का मुख्य आधार होगा। उन्होंने कहा कि निवेश के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है विश्वास। उन्होंने कहा कि यात्रा के दौरान वे उद्योगपतियों से मुलाकात कर उनका विश्वास अर्जित करेंगे और प्रदेश में उद्योग अनुकूल वातावरण बनाने के संबंध में भी चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि यह मध्यप्रदेश में निवेशकों का विश्वास लौटाने की पहल है।

इन उद्योगपतियों से मिलेंगे सीएम नाथ

मुख्यमंत्री कमलनाथ गुरुवार को मुंबई में रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन मुकेश अंबानी, बिड़ला ग्रुप के कुमार मंगलम, टाटा समूह के चंद्रशेखर, महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के पवन गोयनका, टाटा पॉवर के प्रवीर सिन्हा, ग्रासिम के दिलीप गौर, एसीसी सीमेंट के दिलीप अखूरी, नरसी मुंजी के अमरीश पटेल से वन-टू-वन चर्चा करेंगे। 

ट्यूबेक्स इंडिया लिमि. चेयरमेन अजय सम्बरानी, एचडीएफसी बैंक ग्रुप हेड राकेश सिंह, वेरेटिव एनर्जी लिमि. एम.डी. सुनील खन्ना, कंसुलेट जनरल ऑफ जापान, कंसुलेट जनरल मिशियो हराडा, टाटा पॉवर लिमि. एमडी प्रवीर सिन्हा, टाटा कंसलटेंसी लिमि. वाइस प्रेसीटेंड तेज भाटिया, रिलायंस इण्डस्ट्रीज लिमि. स्टॉफ चेयरमेन निलेश मोदी, रिलायंस इण्डस्ट्रीज लिमि. बिजनेस यूनिट हेड संजय रॉय, हिन्दुजा ग्रुप हेड कार्पोरेट आर. केनन, एसीसी सीमेंट एमडी नीरज अखोरी भी मौजूद रहेंगे।

इसके साथ ही इण्डोस्पेस मेनेजिंग डायरेक्टर राहुल नायर, टाटा मोटर लिमि. नेशनल हेड सुशांत नायक, ग्रासिम इण्डस्ट्रीज लि. ज्वाइंट डायरेक्टर अजय सरदाना, केमोट्रोल्स इण्डस्ट्रीज प्रा.लि. चेयरमेन के. नंदकुमार, हिन्दुस्तान यूनिलीवर लिमि. एक्जुकेटिव डेयरेक्टर प्रदीप बेनर्जी, हिन्दुस्तान यूनिलीवर लिमि. लीड साउथ एशिया कनिका पाल, इनोक्स लिमि. डायरेक्टर सिद्धार्थ जैन, प्रॉक्टर एंड गेम्बल चीफ एक्जुकेटिव मधुसुधन गोपालन, अहिल्या एक्सप्रेसिस डायरेक्टर यशवंत होलकर भी उपस्थित रहेंगे।

एसीएस को मिलेगी उद्योगपति की जिम्मेदारी

सूत्रों के मुताबिक अगर कोई उद्योगपति प्रदेश में निवेश करना चाहता है तो फिर उसकी सारी जिम्मेदारी एक संबंधित एसीएस स्तर के अफसर को सौंपी जाएगी। जो निवेशक को हर संभव मदद प्रदान करने और उनकी सभी कागज़ी कार्रवाई पूरी करने के लिए जिम्मेदार होगा। उसका काम होगा वह निवेशक को समय पर सरकारी अनुमतियां और अन्य मदद दिलाए और जल्द से जल्द प्रदेश में प्रोजेक्ट शुरू करवाए। जिससे स्थानी लोगों को रोजगार मुहैया करवाया जा सके।