मंदसौर गोलीकांड पर सरकार का यू-टर्न, अब सीएम बोले – ‘दोषियों को नहीं बख्शेंगे’

cm-reaction-on-mandsaur-golikand-after-become-issue-against-government

भोपाल| मंदसौर गोलीकांड और पौधरोपण में भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर शिवराज सरकार को घेरने वाली कांग्रेस के सत्ता में आते ही इस मामले पर बदले सुर से सियासत गरमाई हुई है| विधानसभा चुनाव के दौरान मंदसौर गोलीकांड को लेकर विपक्ष में रही कांग्रेस ने खूब हंगामा किया था। कांग्रेस ने मंदसौर गोलीकांड में 6 किसानों की मौत को लेकर भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला था। लेकिन सोमवार को विधानसभा की कार्यवाही में बाला बच्चन ने जो जवाब दिया उसके बाद इस मुद्दे पर सरकार घिर गई है| इसके बाद इस मुद्दे पर सरकार ने एक बार फिर यू टर्न लिया है| मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्तिथि को स्पष्ट करते हुए कहा है कि न हम गोलीकांड के दोषियों को बख्शेंगे ,ना हम पौधारोपण घोटाले के दोषियों को छोड़ेंगे|  

मंत्रियों के विधानसभा में दिए गए जवाब पर उठे सवालों पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर सरकार स्तिथि को स्पष्ट किया है| उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है ‘ना हम मंदसौर में किसान भाइयों पर हुए गोलीकांड के दोषियों को बख्शेंगे ,ना हम पौधारोपण घोटाले के दोषियों को छोड़ेंगे और ना सिहंस्थ में हुई आर्थिक अनियमित्ताओ के दोषियों को। चाहे पीड़ित किसान भाइयों को न्याय दिलवाना हो या घोटाला करने वालों को सज़ा दिलवाना , यह हमारा संकल्प है”। इससे पहले मंदसौर गोलीकांड पर पिछली सरकार को क्लीन चिट देने के मामले में घिरने के बाद गृहमंत्री बाला बच्चन ने इस मामले पर मीडिया से चर्चा करते हुए सफाई दी है| बाला बच्चन ने कहा कि सरकार ने किसी को क्लीन चिट नहीं दी है। सरकार पहले न्यायिक जांच आयोग की रिपोर्ट का परीक्षण करेगी, यदि सरकार जांच रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं हुई तो फिर इस मामले की उच्च स्तरीय जांच कराई जाएगी। बता दें कि मीडिया में चली ख़बरों के बाद सरकार पर सवाल उठे और वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी मंत्रियों के जवाब पर नाराजगी जताई थी| जिसके बाद सरकार अब सफाई देने में जुट गई है| 

दिग्विजय ने मंत्रियों को लगाई फटकार 

मप्र सरकार द्वारा भाजपा शासन काल में हुए मंदसौर गोलीकांड और नर्मदा किनारे पौधरोपण को लेकर विधानसभा में दिए गए जवाब पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय ने नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने वन मंत्री उमंग सिंघार को फटकार लगाते हुए कहा कि वे नर्मदा किनारे कितने दिन पैदल चले हैं, जो विधानसभा में ऐसा जवाब दे दिया हैं। बता दें कि जिन मुद्दों पर विपक्ष में रहकर कांग्रेस पिछली सरकार को घेरती थी, अब उन मुद्दों पर सरकार का यह रुख सवाल खड़े कर रहा है| पूर्व मुख्यमंत्री ने आज राजधानी में पत्रकारों से चर्चा में जमकर नाराजगी जताई और गृहमंत्री बाला बच्चन और वन मंत्री उमंग सिंघार को फटकार लगाई है। दिग्विजय ने कहा कि मंदसौर गोलीकांड में कांग्रेस सरकार ने भाजपा को क्लीन चिट दे दी है। वहीं वन मंत्री द्वारा विधानसभा में यह जवाब देना कि नर्मदा किनारे पौधरोपण हुआ है, कोई भ्रष्टाचार नहीं हुआ, इस मामले में भी भाजपा को क्लीन चिट दे दी है। दिग्विजय ने वन मंत्री को नसीहत दी है कि वे नर्मदा किनारे जाकर देखें कि कितना पौधरोपण हुआ है। मैंने नर्मदा की परिक्रमा की है और देखा है कि कितना पौधरोपण हुआ है। मैं 3100 किलोमीटर पैदल चला हु मंत्री बताये कितना चले, पौधरोपण के नाम पर बहुत बड़ा भ्रष्टाचार हुआ है|

गौरतलब है कि मंदसौर गोलीकांड पर बीजेपी और शिवराज सरकार को घेरने वाली कांग्रेस ने सत्ता में आते ही सुर बदल दिए हैं| गृह मंत्री बाला बच्चन ने मंदसौर गोलीकांड में प्रशासन को क्लीनचिट दे दी| सोमवार को विधानसभा में लिखित सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मंदसौर में किसानों पर गोली कानूनी प्रक्रिया का पालन करते हुए आत्मरक्षा में चलाई गई थी। विधायक हर्ष विजय गेहलोत के सवाल के जवाब में बाला बच्चन ने कहा कि मंदसौर के पिपलिया मंडी थाना में 6 जून 2017 को हिंसक भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आत्मरक्षा और सरकारी व निजी संपत्ति की सुरक्षा के लिए गोली चलाई गई थी।