रुझानों ने बढ़ाई भाजपा की चिंता, मुख्यमंत्री निवास पर आपात बैठक

cm-shivraj-call-meeting-at-his-residence-in-bhopal

भोपाल। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के नतीजों से पहले आए रुझानों से भाजपा की चिंता बढ़ गई है। पार्टी की जमीन खिसकती नजर आ रही है। रुझानों के मुताबकि भाजपा अभी 104 सीटों पर थम गई है। जबकि कांग्रेस 113 सीटों पर आगे चल रही है। दोनों ही दलों को अभी तक बहुमत मिलती नहीं दिख रहा है। लेकिन भाजपा के दावों की हवा निकलती नजर आ रही है। वहीं, अन्य दलों ने भी 13 सीटों पर बढ़त बनाई है। जिले देखते हुए पार्टी में हड़कंप मच गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निवास पर आपात बैठक बुलाई गई है। 

इस बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा शामिल हुए हैं। पार्टी इस बात पर रणनीति बना रही है अगर उसे बहुमत का आंकड़ा नहीं मिलता है और कांग्रेस भी पीछे रही है तो किस तरह गठजोड़ किया जा सकता है। पार्टी ने इसके लिए प्लान बी पहले से तैयार कर रखा है। चुनाव परिणामों को लेकर किया जा रहा है मंथन । बीजेपी की सरकार बनाने की संभावना पर भी चर्चा जारी है। 

गौरतलब है कि नतीजों से एक दिन पहले तक भाजपा पूरे आत्मविशवास से 150 सीटों का दावा कर रही  थी। लेकिन  सुबह आए रुझानों से कुछ हद तक तस्वीर साफ होती दिख रही है। दोनों दलों में मैजिक आंड़का छूने में पीछे हैं। किसी भी दल का पलड़ा भारी हो सकता है। इसलिए पार्टी में मंथन किया जा रहा है। अगर किसी सूरत में भाजपा हारती है तो उसका ठीकरा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर फोड़ा जाएगा। इसके संकेत पहले ही पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद रघुनंनद शर्मा दे चुके हैं।