सीएम शिवराज ने की Budget 2021 की तारीफ, तो कमलनाथ ने बताया ‘निराशाजनक बजट’

बजट 2021 (Union Budget 2021) को लेकर जहां मध्य प्रदेश सरकार बजट की तारीफ (Budget) करते हुए नहीं थक रहे हैं। वहीं विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) ने बजट 2021 को निराशाजनक बजट कहा है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केंद्रीय बजट 2021 (Union Budget 2021) आज आ गया है, जिस पर पूरे देश की नजर टिकी हुई थी। बजट 2021 (Budget 2021) को लेकर जहां मध्य प्रदेश सरकार (Government of Madhya Pradesh) बजट (Union Budget 2021) की तारीफ करते हुए नहीं थक रहे हैं। वहीं विपक्ष ने केंद्र सरकार (Central government) पर निशाना साधा है। जिसे लेकर मध्यप्रदेश कांग्रेस के पीसीसी चीफ एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) ने ट्वीट करते हुए बजट 2021 (Union Budget 2021) को निराशाजनक बजट कहा है।

‘बजट 2021 है पूरी तरह से आमजन विरोधी’

साथ ही लिखा है कि मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया के पुराने नारों की तरह अब आत्मनिर्भर के नए नारे के साथ आंकड़ों की हेराफेरी कर देश की जनता को गुमराह करने का काम इस बजट में किया गया है। जो लोग एफ़डीआई का विरोध करते थे वो आज एफ़डीआई को हर क्षेत्र में लागू कर रहे है। यह बजट पूरी तरह से आमजन विरोधी है।

कमलनाथ ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

पूर्व सीएम कमलनाथ ने अपने ट्वीट में केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए लिखा है कि आयकर में छूट की उम्मीद थी, लेकिन छूट नहीं बढ़ायी गयी। यह बजट महंगाई बढ़ाने वाला बजट है। पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस की बढ़ती कीमतों को देखते हुए इस बजट में करो में भारी राहत की जनता को उम्मीद थी, लेकिन जनता एक बार फिर ठगी गयी है। कई वर्षों पुरानी घोषणाओं को इस बजट में एक बार फिर दोहराने का काम किया गया है। जो लोग कहते थे कि देश नहीं बिकने दूंगा, उनका आज नारा है सब चीज़ बेच दूँगा, यह इस बजट से भी स्पष्ट रूप से दिख रहा है। गरीब-मध्यमवर्गीय के लिये इस बजट में कुछ नहीं है।

 

 

 

बजट में किसान वर्ग के लिए कुछ भी नहीं है : कमलनाथ

आज बजट में मंडी व्यवस्था को मज़बूत करने का झूठा वादा, झूठे वादों से गुमराह करने का काम? कोरोना महामारी के बाद बड़ी संख्या में युवा वर्ग को नौकरियों से हाथ धोना पड़ा है, युवा वर्ग के रोजगार को लेकर इस बजट में कुछ नहीं है। देश का सबसे बड़ा वर्ग किसान वर्ग जो अपने हक को लेकर सड़कों पर पिछले 2 माह से अधिक समय से आंदोलन कर रहा है, उसके लिए इस बजट में कुछ नहीं है, सिर्फ़ झूठे वादे, वर्षों पुराना आय दोगुनी का एक बार फिर वादा, एक तरफ़ नये कृषि क़ानूनों से मंडी व्यवस्था को ख़त्म करने का काम।

 

 

बजट 2021 को लेकर CM शिवराज ने जताई खुशी

वहीं दूसरी ओर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बजट 2021 को लेकर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इन्फ्रास्ट्रक्चर, चिकित्सा, शिक्षा सहित समस्त क्षेत्रों के विकास को ध्यान में रखकर तैयार किए गए आत्मनिर्भर भारत का बजट के लिए मैं पीएम नरेंद्र मोदी और वित्तमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण को हृदय से धन्यवाद देता हूँ। यह बजट नागरिकों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाएगा।

 

COVID-19 का PM मोदी ने किया डटकर किया सामना : CM शिवराज

आगे उन्होंने लिखा है कि पिछले वर्ष सारे विश्व ने COVID-19 के रूप में एक नई चुनौती का सामना किया। भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में न सिर्फ इस चुनौती का डटकर मुक़ाबला किया गया, बल्कि दुनिया के अनेक देशों को मदद भी पहुंचाई गई। चिकित्सा के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने में यह बजट कारगर साबित होगा। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण के लिए वर्ष 2021-22 में 2,23,846 करोड़ रुपये आवंटित किए जाएंगे।

 

‘कपड़ा उद्योग के लिए स्थापित किए जाएंगे 7 नए टैक्सटाईल पार्क’

2021 में पेश हुए बजट को भारत के कपड़ा उद्योग को वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए आने वाले 3 सालों में 7 नए टैक्सटाईल पार्क स्थापित किए जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में लिया गया यह निर्णय स्वागत योग्य है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में देश में सड़कों का नया जाल बिछाया जा रहा है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के लिए रु. 1.18 लाख करोड़ आवंटित किए गए हैं। अनेक राज्यों में हजारों किमी के राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण कार्य जारी हैं।

 

‘2024 तक किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य’

किसानों की आय वर्ष 2024 तक दोगुना करना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रमुख लक्ष्य है। कृषि क्षेत्र में पारदर्शिता और प्रतिस्पर्धा लाने के लिए 1,000 मंडियों को E-NAM से जोड़ा जा रहा है। स्वामित्व योजना के अंतर्गत सभी राज्यों को कवर किया जाएगा। शिक्षा व्यवस्था की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नए प्रयास किए जा रहे हैं। इसके अंतर्गत 15,000 से अधिक स्कूल राष्ट्रीय शिक्षा नीति के सभी पक्षों को शामिल करेंगे। साथ ही देश में 100 नए सैनिक स्कूल स्थापित किए जाएंगे।

 

समाज के निचले तबके का विकास है आवश्यक

आत्मनिर्भर भारत का बजट के निर्माण के लिए समाज के निचले तबके का विकास आवश्यक है। OneNation, OneRation के अंतर्गत अब तक 69 करोड़ से अधिक नागरिकों को लाभान्वित किया जा चुका है। असंगठित कामगारों के के हित के लिए सरकार द्वारा विशेष पोर्टल लॉन्च किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वरिष्ठ नागरिकों के हित में महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। 75 वर्ष आयु से अधिक के ऐसे नागरिक, जिन्‍हें पेंशन और ब्‍याज सहित आय प्राप्‍त होती है, उन्‍हें आयकर दाखिल करने से राहत प्रदान की गई है।

 

PM मोदी ने क्रांतिकारी बजट प्रस्तुत किया : CM शिवराज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संवेदनशील नेतृत्व में भारत में विश्व का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान प्रारम्भ किया गया। हम उनके मार्गदर्शन में COVID-19 को समाप्त करने जा रहे हैं। वर्ष 2021-22 में वैक्सीनेशन के लिए रु. 35,000 करोड़ आवंटित किए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में वित्तमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने क्रांतिकारी बजट प्रस्तुत किया है। प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना प्रारंभ की गई है, जो भारत के नवनिर्माण के स्वप्न को साकार करेगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here