तीन तलाक पीड़िता की मदद के लिए आगे आए शिवराज, ट्वीट के जरिए न्याय दिलाने का दिया आश्वासन

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

देशभर में जहां कोरोना (corona) का प्रकोप जोरो पर है, वहीं राजधानी भोपाल (bhopal) से तीन तलाक (teen talaq) का मामला सामने आया है, जिस पर सीएम शिवराज (shivraj singh chauhan) ने ट्वीट के जरिए अपनी प्रतिक्रिया दी है। दरअसल, भोपाल में तीन तलाक का पहला केस दर्ज हुआ है, जिसमें पति ने अपनी पत्नी को मोबाइल पर मैसेज कर तीन तालक दिए जाने की बात सामने आई है, जिसपर सीएम शिवराज ने ट्वीट किया है।

सीएम शिवराज ने ट्वीट करते हुए लिखा कि वर्षों की लड़ाई के बाद हमारी मुस्लिम बहनों के स्वाभिमान और न्याय के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने तीन तलाक खत्म करने का कानून बनाया था, लेकिन आज भी कुछ निकृष्ट लोग इस कानून  के खिलवाड़ कर रहे है। आगे उन्होंने ट्वीट में लिखा कि भोपाल में आज सुबह एक मुस्लिम बहन ने अपने पति द्वारा मोबाइल पर मैसेज भेजकर ट्रिपल तलाक़ दिए जाने को लेकर FIR दर्ज कराई है। मैं उस बहन को विश्वास दिलाता हूँ कि मध्यप्रदेश पुलिस उन्हें न्याय दिलाने का हरसंभव प्रयास करेगी।

 

आगले ट्वीट में सीएम शिवराज ने प्रदेश के डीजीपी से बात करने की बात कही है, उन्होंने कहा कि मैंने इस संदर्भ में मध्य प्रदेश के डीजीपी से बात की है कि मध्यप्रदेश पुलिस , बैंगलोर पुलिस के साथ समान्वय स्थापित कर इस मामले में उचिंत कार्रवाई करे और हमारी मुस्लिम बहन को न्याय दिलाए।

 

बता दें कि 12 जून को भोपाल की रहने वाली पीड़िता को शादी का लंबा समय बीत जाने के बाद उसके पति ने फौन पर तलाक दे दिया था। वहीं पीड़िता का पति उससे दहेज के लिए भी परेशान करता था और मांग का विरोध करने पर पीड़िता को घर ने निकाल दिया था। 25 लाख की अपनी मांग के पूरे नहीं होने के चलते पति ने पीड़िता को फोन पर तीन तलाक बोल कर शादी खत्म कर दी,वहीं पीड़िता के बार बार समझाने पर जब वो नहीं माना तो उसने उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी।