कमलनाथ पर CM शिवराज का तंज, कहा- कुर्सी तो बची नहीं…अब खाट पर ही बैठें

मुरैना में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) के नेतृत्व में खाट महापंचायत का आयोजन (Organization of Khat Mahapanchayat) किया गया। जिसे लेकर प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह (Chief Minister Shivraj Singh) ने तंज कसा है। और कहा है कि 'जो लोग कुर्सी नहीं बचा सके वो अब खाट पर ही बैठेंगे।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि बिल (Agricultural bill) का लगातार विरोध जारी है। किसान करीब 2 महीने से दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन (Movement on delhi border) कर रहे है। किसानों के समर्थन में विपक्ष भी लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर हो रही है। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में भी पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के पीसीसी चीफ कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) ने ट्रैक्टर रैली (Tractor rally) निकालकर आंदोलन करने का ऐलान किया था, जिसकी शुरूआत छिंदवाड़ा (Chhindwara) से की है। वहीं आज मुरैना में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) के नेतृत्व में खाट महापंचायत का आयोजन (Organization of Khat Mahapanchayat) किया गया। जिसे लेकर प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह (Chief Minister Shivraj Singh) ने तंज कसा है। और कहा है कि ‘जो लोग कुर्सी नहीं बचा सके, वो अब खाट पर ही बैठेंगे।’

सीएम शिवराज ने कमलनाथ पर कसा तंज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh) ने कांग्रेस द्वारा आयोजित खाट पंचायत (Khat Panchayat) को लेकर तंज कसते हुए कहा कि अब कांग्रेस के पास कुर्सी तो बची नहीं है, ऐसे में उनके पास केवल खाट ही बचा है, तो वह अब घाट पर ही बैठें। उन्होंने कहा कि अब कमलनाथ के पास कोई भी काम नहीं है, और जब कोई काम नहीं है तो कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) अपनी टीम बनाकर केवल ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधने का काम कर रही है। मुरैना में आयोजित खाट महापंचायत में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) के साथ दिग्विजय सिंह सहित कई दिग्गज नेता शामिल थे।

खाट महापंचायत में कांग्रेस ने किया ये संकल्प

खाट महापंचायत (Khat Mahapanchayat) में कांग्रेस ने संकल्प लिया कि हम दिल्ली में जाकर किसान आंदोलन का सीधे तौर पर समर्थन करेंगे। बता दें कि इस महापंचायत में कांग्रेस ने एक नया तरीका अपनाया, जिसमें सभी किसान खाट पर बैठे हुए थे। इस दौरान सभी के लिए खाट की व्यवस्था की गई थी।

कमलनाथ ने किया था ट्वीट, शिवराज ने किया पलटवार

मध्य प्रदेश में लगातार नाबालिग और महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। इसी संदर्भ में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) ने प्रदेश के मुखिया शिवराज सरकार पर ट्वीट कर निशाना साधा था। जिसमें उन्होंने लिखा था कि मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार के राज में बहन-बेटियों से दरिंदगी की घटनाएं निरंतर जारी है। बहन-बेटियां चाहती हैं सबसे पहले सुरक्षा, लेकिन कभी पूजन, तो कभी उम्र के नाम पर गुमराह करने का काम जारी है। इन्ही सब ट्वीट को लेकर शिवराज सरकार (Chief Minister Shivraj Singh) ने पलटवार किया है और उन्होंने कहा कि कमलनाथ के पास कोई काम नहीं बचा है, इसलिए वह एक टीम बनाकर सरकार के खिलाफ ट्वीट करने का काम कर रही है।

खाट महापंचायत में केंद्र पर बोला हमला

केंद्र के खिलाफ और किसानों के समर्थन में कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) के नेतृत्व में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के संसदीय क्षेत्रों में खाट महापंचायत (Khat Mahapanchayat) का आयोजन किया गया। इस दौरान कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला।