Video Conference : बाढ़ आपदा एवं राहत को लेकर सीएम शिवराज ने कलेक्टरों को दिए दिशानिर्देश, फसल बीमा पर चर्चा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने आज मंत्रालय में सभी जिलों के कलेक्टर व एसपी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) की। मुख्यमंत्री द्वारा बुलाई। इस महत्वपूर्ण बैठक में प्रदेश के सभी 52 जिलों के कलेक्टर एसपी उपस्थित रहे। साथ ही सभी संभागों के कमिश्नर और आईजी भी बैठक में शामिल हुए।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री ने बाढ़ के दौरान प्रशासन की तत्परता को लेकर उनकी प्रशंसा की। साथ ही बाढ़ एवं आपदा राहत कार्यों को लेकर दिशानिर्देश भी दिए। उन्होने जबलपुर, नर्मदापुरम, भोपाल, इंदौर संभाग में बाढ़ की जिलेवार जानकारी ली। पशु हानि, फसल हानि, मकानों की क्षति के बारे में ली जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने बैठक में जिला प्रशासन से कहा कि पूरी संवेदनशीलता के साथ बाढ़ राहत के काम में जुटे और संकट के समय मे लोगो के साथ खड़े रहें। क्षति हुई फसलों का सर्वे जल्दी हो।

सीएम शिवराज ने समर्थन मूल्य एवं धान खरीदी की समीक्षा करते हुए जिलावार जानकारी प्राप्त की। वहीं कानून व्यवस्था, कालाबाजारी, मिलावट के विरुद्ध अभियान पर भी सभी से सवाल पूछे। उन्होने कहा कि खाद की उपलब्धता पर स्थिति स्पष्ट करें, किसानों को यूरिया की कमी न हो और इसे लेकर फर्जीवाड़ा किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होने कलेक्टरों को निर्देश दिए कि प्रशासन पूरी ताकत के साथ यूरिया की कालाबाज़ारी करने वालो के खिलाफ कार्रवाई करे। वहीं शिवराज ने गेंहू के उपार्जन को लेकर सभी को बधाई दी और कहा कि धान के उपार्जन के लिए प्री प्लानिंग कर ली जाए तथा धान के खरीदी केंद्र बढ़ा लिए जाएं जिससे धान खरीदी सुगम एवं सरलता के साथ हो  सके।

सीएम ने ट्रांसफार्मर एवं बिजली संबंधी शिकायतों के निपटारे पर चर्चा करते हुए कहा कि इस मामले में प्रशासन मुस्तैदी से कार्य करते हुए सभी मामलों का समाधान करे। मुख्यमंत्री ने इस बैठक में नवीन पात्रता पर्ची धारी हितग्राहियों को खाद्यान्न वितरण की जानकारी ली। पथ विक्रेता उत्थान योजना स्ट्रीट वेंडर के संबंध में चर्चा की तथा वन अधिकार पट्टा की जिलेवार समीक्षा की। किसानों, दुग्ध उत्पादकों और मछली पालकों के क्रेडिट कार्ड की जानकारी ली एवं स्व सहायता समूह के सशक्तिकरण, विवादित नामांतरण और बंटवारा पर भी बैठक में चर्चा हुई। वही जेईई, नीट की परीक्षा के संबंध में चर्चा की गई तथा फसल बीमा की तारीख बढ़ा देने के बाद इस संबंध में सीएम ने आवश्यक निर्देश दिए।

सीएम ने सभी को राशन की कालाबाज़ारी पर कार्रवाई करने के निर्देश देते हुए कहा कि राशन की कालाबाज़ारी पाप है। कुछ सफेदपोश गरीबों का राशन खा रहे हैं और उनपर कड़ी कार्रवाई की जाए। अवैध शराब, भू माफिया, सरकारी जमींन पर अतिक्रमणकारी, बेटियों को छेड़ने वाले, आदतन अपराधी, ब्लैकमेल करने वालो पर कार्रवाई हो। बदमाशों की कमर तोड़ दी जाए। हर जिले में सूची बने, सूची के अनुसार कार्यवाई हो। सीएम ने कहा कि मानवता के एक भी दुश्मनों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा आपका धर्म है, ड्यूटी है लोगों को सुरक्षा देना। उन्होने कहा कि हर हफ्ते रिपार्ट बनाइए मैं खुद इसकी मॉनिटरिंग करूंगा।बैठक में सायबर क्राइम को लेकर भी चर्चा हुई, सीएम ने कहा कि ये मामला भी गंभीर है और इसपर भी कार्रवाई के निर्देश दिए गए।