CM का मंडला-जबलपुर दौरा निरस्त, अधिकारियों से करेंगे चर्चा, मजिस्ट्रेट्स-पुलिस को पीली बत्ती

भोपाल।

कुछ ही घंटो बाद सुप्रीम कोर्ट  देश के सबसे पुराने अयोध्या मामले पर अपना फैसला सुनाएगी।इसके पहले मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर प्रदेश की जनता से अपील की है कि कोर्ट के फैसले को आप शांति से स्वागत करें। आपसी सौहार्द व सद्भाव कायम रखना हम सब की जिम्मेदारी है।वही सीएम ने अपना आज 9 नवंबर का मंडला – जबलपुर दौरा निरस्त कर दिया है।कमलनाथ 11.15 से 11.30 के बीच पुलिस कंट्रोल रूम पहुचेंगे और क़ानून व्यवस्था को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक  करेंगे ।वहाँ पर अधिकारियों से चर्चा कर फ़ैसले के मद्देनज़र क़ानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करेंगे।

सीएम ने ट्वीट कर लिखा है कि  अयोध्या मामले पर आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के मद्देनज़र मैं प्रदेश की जनता से अमन-चैन,शांति व सद्भावना की अपील करता हुँ। हर वर्ग से अपील करता हुँ कि जो भी फ़ैसला आये, सभी मिलजुलकर उसका सम्मान व आदर करे।वही अगले ट्वीट में लिखा है कि प्रदेश की गंगा-जमुनी की संस्कृति के अनुरूप हम सभी को अपना भाईचारा क़ायम रखते हुए हमारा आपसी सोहाद्र व सद्भाव क़ायम रखना है। किसी भी प्रकार की अफ़वाहो से सावधान व सजग रहे। क़ानून व्यवस्था के पालन में सभी सहयोग करे।

लाल की जगह पीली बत्ती की गाड़ी की अनुमति

इधर, मुख्य सचिव कार्यालय ने निर्देश जारी कर कहा है क प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए 9, 10 एवं 11 नवंबर 2019 के लिए प्रदेश के सभी कार्यपालिक मजिस्ट्रेट्स एवं पुलिस अधिकारियों के लिए पीली बत्ती के उपयोग की अनुमति दी जाती है।

डिबेट में भाग नही लेगी कांग्रेस

मप्र कांग्रेस ने सभी प्रवक्ताओं और नेताओं से आयोध्या मामले में आज होने वाली किसी भी डिबेट में भाग लेने से मना कर दिया है।कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने आदेश जारी कर कहा है कि आज किसी टीवी डिबेट में हिस्सा  एमपी कांग्रेस नहीं लेगी।