सीएम शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj singh chouhan) के तेवर इन दिनों सख्त हैं और वे लगातार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हर जिले में कानून व्यवस्था की समीक्षा कर एसपी कलेक्टरों को चेता रहे हैं। इसी बीच आंकड़े बनाने की होड़ में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसके चलते एक निर्दोष व्यक्ति बलि का बकरा बनते हुए बाल-बाल बचा।

आंकड़ें बढ़ाने की होड़, सीएम शिवराज ने वीसी में पूछा सवाल तो एसपी पलटे

मामला अलीराजपुर का है जहां नगर पालिका ने एक नोटिस जारी कर विशाल भिंडे नाम के व्यक्ति को उसका ढाबा तोड़ने का नोटिस दिया। कारण शासकीय भूमि पर अतिक्रमण बताया गया। यह कार्यवाही उन लोगों पर की जा रही थी जिनका आपराधिक रिकार्ड है, लेकिन विशाल का कोई आपराधिक रिकॉर्ड ही नहीं था। हालांकि ढाबा नहीं टूटा लेकिन सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंह में एसपी विजय भागवानी से जानना चाहा कि आखिर विक्रम को नोटिस क्यों दिया तो वे साफ मुकर गये। जबकि नगरपालिका द्वारा दिये गये नोटिस में ढाबा तोड़ने की कारवाई एसपी के निर्देश पर होना साफ लिखा है।