कंप्यूटर बाबा के खास आदमी की पुलिस से गुहार- मुझे मेरे 10 लाख दिलवाएं

लिहाजा, तोमर ने पिछले दिनों इंदौर आईजी को इस मामले की शिकायत कर मांग की थी कि वो कम्प्यूटर बाबा को ढूंढकर उनके रुपये दिलवाए।

Computer-Baba-raid-on-mafia

इंदौर, आकाश धोलपुरे। एक समय सरकार की ईंट से ईंट बजा देने वाले कम्प्यूटर बाबा के खास समर्थक रहे रमेश तोमर ने कंप्यूटर बाबा पर जमकर जुबानी हमला बोला है। दरअसल, इंदौर में बीते साल कंप्यूटर बाबा के अवैध निर्माण को इंदौर नगर निगम द्वरा ध्वस्त कर दिया गया था और कंप्यूटर बाबा ने गोशाला ओर मंदिर के नाम पर अवैध निर्माण कर रखा था। इन कार्रवाइयों के अलावा पुलिस ने उन पर विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया था और कंप्यूटर बाबा को जेल भेजा गया था। वही जेल से जमानत पर छूटने के बाद कम्प्यूटर बाबा का अता पता नही है।

ऐसे में कंप्यूटर बाबा के करीबी रहे रमेश तोमर भी अब कंप्यूटर बाबा के खिलफ हो गए है और बाबा पर लाखों रुपए लेन देन का आरोप लगाते हुए रमेश तोमर कई खुलासे किए है। कंप्यूटर बाबा के बेहद करीबी माने जाने वाले रमेश तोमर ने बताया कि उनके द्वरा कंप्यूटर बाबा को कई बार नगद रुपये की राशि भी दी गई है। यहां तक कि उनकी जमानत के लिए 5 लाख की एफडी के लिये उन्हें अपनी बहू के जेवर तक गिरवी रखने के साथ ही बेचना भी पड़े है।

Read More: World Cancer Day : जाने पहली बार कब मनाया गया था कैंसर दिवस और कैसे करें इससे बचाव

वही तोमर के मुताबिक उन्होंने अपन इनोवा कार कंप्यूटर बाबा को किराये पर दे रखी थी जिसे वो खुद चलाते थे और कम्प्यूटर बाबा द्वारा 8 महीने का किराया भी नही दिया गया है। अब जब तोमर 10 लाख रुपये के लिए कम्प्यूटर बाबा को फोन लगाते है तो वो फोन तक नही उठाते है लिहाजा, तोमर ने पिछले दिनों इंदौर आईजी को इस मामले की शिकायत कर मांग की थी कि वो कम्प्यूटर बाबा को ढूंढकर उनके रुपये दिलवाए।

उस वक्त भी तोमर ने कंप्यूटर बाबा पर कई संगीन आरोप लगाए थे। वही अपने घर के निर्माण को तोड़े जाने को लेकर भी तोमर ने कहा कि उसके खिलाफ कोई संगीन अपराध दर्ज नही है और ना ही वो आज तक जेल गया है। लिहाजा, प्रशासन की कार्रवाई को लेकर तोमर ने सवाल उठाए वही पुलिस से गुहार लगाई है कि वो कम्प्यूटर बाबा से उसके 10 लाख रुपये दिलवाए।