कंप्यूटर बाबा अब ‘योगी’ के पीछे पड़े, सार्वजनिक माफ़ी पर अड़े

computer-warning-to-yogi-adityanath-Apology-for-comment-on-Hanuman-ji

भोपाल|  देश में हनुमानजी की जाति को लेकर बवाल के बीच अब बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले कंप्यूटर बाबा ने यूपी की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कड़ी चेतानवी दी है| उन्होंने भोपाल में प्रेस वार्ता करते हुए कहा है कि हनुमान जी पर की गई अनर्गल टिप्पणी के लिए उन्हें माफ़ी माँगना होगा| अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो हम उनके खिलाफ आंदोलन करेंगे, कोर्ट जाएंगे| 

कम्प्युटर बाबा ने कहा कि योगी को इस पर सार्वजनिक रूप से माफी मांगना चाहिए। अगर वे ऐसा नहीं करते तो संत समाज सड़कों पर उतरकर उनका विरोध करेगा। उन्होंने कहा कि हनुमानजी पर टिप्पणी की शुरुआत योगी ने की थी और अब उनकी सरकार के मंत्री रोज नए-नए बयान दे रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी दोनों ही धर्म विरोधी हैं. मुख्यमंत्री योगी के ‘हनुमान जी को दलित’ दलित बताने वाले बयान से हम बेहद दुखी हैं, इसलिए अब हम उनके खिलाफ कोर्ट तक जाएंगे| उन्होंने कहा कि योगी और मोदी की बुद्धि भ्रष्ट हो गई है, विनाश काले विपरीत बुद्धि हो गई है। मैं इनकी चौकीदारी करूंगा। 

इस दौरान कंप्यूटर ने कहा कि भाजपा की शिवराज सरकार विधर्मी थी, जबकि उन्होंने कमलनाथ की सरकार को धार्मिक बताया है। कम्प्युटर बाबा ने कहा कि हनुमानजी पर की गई टिप्पणी को लेकर मेरा मन दुखी हो गया है। वे सभी के आराध्य है, उन्हें धर्म, जाति में नहीं बांटा जा सकता। इसके अलावा उन्होंने एक आध्यात्मिक विभाग बनाने की भी मांग की है| उन्होंने कहा वे सभी संतों के साथ प्रयागराज कुंभ में जा रहे हैं। यहां वे संगम का पूजन करने के बाद अपने अखाड़े का नाम तय करेंगे।

बता दें कि कभी नर्मदा यात्रा की पोल खोलने जा रहे कंप्यूटर बाबा को शिवराज सरकार ने राज्यमंत्री का दर्जा दिया था| लेकिन कुछ ही महीनों में वे शिवराज सरकाए के खिलाफ हो गए| चुनाव में भी संतों के साथ उन्होंने कांग्रेस को समर्थन देकर शिवराज सरकार को उखाड़ फेंकने का ऐलान किया| अब मध्य प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हो गया है, और कंप्यूटर बाबा इसे संतों की नाराजी का फल बताते हैं| अब उन्होंने यूपी के सीएम योगी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया| आने वाले समय में वे योगी की मुश्किलें बढ़ा सकते हैं|