कांग्रेस का हमला- MLA खरीदने के लिए पैसे लेकिन गरीबों के समय संकट में सरकार

MP-election--Big-action-against-rebels

भोपाल।

देश में फैले महामारी के बीच देश प्रदेश में सियासत जारी है। मध्यप्रदेश में कमलनाथ की सरकार गिरने के बाद सही प्रदेश कांग्रेस बौखलाई हुई है। अपने इस बौखलाहट में एमपी कांग्रेस कभी केंद्र तो कभी शिवराज सरकार पर निशाना साध रही है। सोमवार को कि अपने ट्वीट में एमपी कांग्रेस ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। अपने ट्वीट में पिछले दिनों प्रदेश में हुई सियासत का जिक्र करते हुए मध्यप्रदेश कांग्रेस ने कहा है कि मोदी सरकार के पास विधायकों को खरीदने के लिए पैसे हैं किंतु गरीबों को खाना खिलाने के लिए नहीं।

दरअसल मध्य प्रदेश कांग्रेस ने पीएम मोदी द्वारा बनाए गए पीएम केयर को निशाना बनाते हुए अपने ट्वीट में कहा है कि सरकार के पास स्टैट्यू बनाने, नमस्ते ट्रंप जैसे कार्यक्रम करने, विदेश यात्रा करने और विधायक खरीदने के लिए बजट की बिल्कुल कमी नहीं है। किंतु गरीबों को निर्धनों को खाना खिलाने के लिए सरकार को दान की आवश्यकता है। बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब एमपी कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। इससे पहले भी मध्य प्रदेश कांग्रेस कई बार ट्वीट के जरिए केंद्र व प्रदेश सरकार को निशाना बनाती रही है। रविवार को कि अपने एक ट्वीट में एमपी कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी को निशाना बनाते हुए कहा था कि को रोना ऐसी पहली चुनौती है जिसने मोदी सरकार का ध्यान हिंदू मुसलमान और पाकिस्तान से भटका दिया है। वह एमपी कांग्रेस ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा था कि करुणा के कारण मध्यप्रदेश विधानसभा 16 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गई थी किंतु मोदी जी ने लॉक डॉन का निर्णय तब नहीं दिया। मध्यप्रदेश मैं बीजेपी की सरकार बनने के बाद प्रधानमंत्री कोरोना को लेकर गंभीर हुए किंतु तब तक काफी देर हो चुकी थी।वहीं उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा है कि बीजेपी की सत्ता की हवस ने देश के 130 लोगों की जान आफत में डाल दी है।

गौरतलब हो कि इससे पहले मध्य प्रदेश कांग्रेस ट्वीट के जरिए शिवराज सिंह चौहान को लेकर भी टिप्पणियां करती रही है। एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि बेशर्मी चरम पर है। पूरा देश महामारी की चपेट में है, लॉकडाउन और कर्फ़्यू जारी है, कोरोना का संक्रमण व मौतों का आँकड़ा बढ़ रहा है, लेकिन बीजेपी को प्रचार की पड़ी है। महामारी और मौतों के बीच भी इस तरह से प्रचार बेशर्मी, निर्लज्जता और निकृष्टता की हद है। “बीजेपी कुछ तो शर्म करो” वहीँ रविवार को एक ट्वीट के जरिए मध्यप्रदेश कांग्रेस ने कहा कि प्रदेश में कोरोना जैसी भयावह बीमारी का कहर चल रहा है लेकिन मुख्यमंत्री खुद में फैशन शो चला रहे हैं। वहीं उन्होंने कांग्रेस के पूर्व 22 बागी विधायकों का जिक्र करते हुए कहा था कि 22 जयचंद को लेने अगर एक प्लेन 3 दिन तक बाहर खड़ा रह सकता है तो गरीबों को उनके घर तक सुरक्षित क्यों नहीं छोड़ सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here