कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विवेक तन्खा ने दिया इस्तीफा, पार्टी नेताओं से की यह अपील

विवेक तन्खा

जबलपुर।

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद से इस्तीफे का दौर पार्टी में अब भी जारी है। राज्यसभा सांसद और जबलपुर से कांग्रेस प्रत्याशी रहे विवेक तन्खा ने कांग्रेस के संगठन पदों से इस्तीफा दे दिया है।विवेक तंखा ने ट्वीट कर जानकारी दी कि वो अब कांग्रेस के किसी भी संगठन के पद पर नही है।विवेक तंखा ने कॉंग्रेस विधि,मानवाधिकार और आरटीआई प्रकोष्ठ के अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया है।सूत्रों के मुताबिक विवेक तन्खा के इस्तीफे के बाद कांग्रेस में कई और नेता भी इस्तीफा दे सकते हैं। सीडब्लयूस��� की अगली बैठक से पहले सभी विभागों के प्रमुख अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं।

राज्यसभा सांसद ने अपने ट्वीट पर लिखा है कि वो अब संगठन में किसी पद पर नही रहना चाहते है।तंखा ने पार्टी के अन्य पदाधिकारियों से भी मांग की है कि आप भी अपने अपने पदों से इस्तीफा दे।दर्शल लोकसभा चुनाव में कांग्रेस न सिर्फ जबलपुर बल्कि प्रदेश में भी बुरी तरह से हारी थी।राज्यसभा सांसद ने सीएम कमलनाथ के भी उस फैसले का स्वागत किया है जिसमे उन्होंने हार की जिम्मेदारी ली है।विवेक तंखा ने अपने ट्वीट में राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से पार्टी के उत्थान के लिए संगठन में परिवर्तन करने की भी मांग की है।उन्होंने कहा कि मैं भले ही संगठन में न रहूं पर हर हाल में  राहुल गांधी के साथ ही रहूंगा।

तन्खा ने ट्वीट किया कि हम सभी को पार्टी पदों से इस्तीफा दे देना चाहिए और राहुल जी अपनी टीम चुनने के लिए छूट देनी चाहिए। ���ैं इस संदर्भ में कमल नाथ के बयान का स्वागत करता हूं। उन्होंने कहा मैं कांग्रेस के विधि आरटीआई व एचआर विभाग के प्रमुख पद से इस्तीफा देता हूं। पार्टी लंबे समय तक गतिरोध नहीं झेल सकती।

We all should submit our resignations fr party positions & give Rahul ji a free hand to choose his team. I welcome Mr Kamalnath’s statement to that effect. I unequivocally submit my resignation as AICC Dept chairman Law,RTI & HR. Party cannot afford a stalemate for too long.

— Vivek Tankha (@VTankha) June 27, 2019

तन्खा ने राहुल गांधी से बदलाव की अपील करते हुए कहा कि राहुल जी! कृपया पार्टी में नई जान फूंकने के लिए व्यापक बदलाव कीजिए। आपके भीतर प्रतिबद्धता और लगन है। मैं हर परिस्थिति में आपके साथ हूं। 

Rahul ji please make drastic changes to revive the party as a fighting force. U have the commitment & determination. Just cobble a good , acceptable & influential nation wide team. I am with you u in all situations.@RahulGandhi@OfficeOfKNath

— Vivek Tankha (@VTankha) June 27, 2019

 गौरतलब है कि ये इस्तीफ उस वक्त हो रहे हैं जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने इस्तीफे की जिद पर अड़े हुए हैं। राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि मैं अपने इस्तीफे का फैसला किसी भी सूरत में नहीं बदलूंगा। उन्होंने कहा कि मुझे दुख इस बात का है कि मेरे इस्तीफे के बाद किसी मुख्यमंत्री, महासचिव या प्रदेश अध्यक्षों ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा नहीं दिया और न ही किसी भी कांग्रेस नेता ने हार की जिम्मेदारी ली।