एमपी में कांग्रेस पदाधिकारियों पर गिरेगी गाज, सैंकड़ो नेता होंगे बाहर

congress-may-change-in-organizational-structure

भोपाल। लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद अब प्रदेश कांग्रेस एक्शन में आ गई है। पार्टी अब उन नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाने जा रही है जिन्होंंने लोकसभा चुनाव के दौरन उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं किया है। अब ऐसे पदिखारियों पर गाज गिरना तय माना जा रहा है। कमेटी बड़े पैमाने पर सर्जरी करने वाली है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 400 से अधिक पदाधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है। 

विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद लोकसभा चुनाव में धराशायी हुई कांग्रेस ने अब मंथन शुरू कर दिया है। पार्टी हार का कारण अबतक नहीं तलाश सकी है आने वाले समय में नगरीय निकाय चुनाव होना हैं। इसलिए संगठन में बड़े स्तर पर बदलाव करने जा रही है। अंदरखाने की खबर है कि जिलों के जिलाअध्यक्ष समेत सैंकड़ों पदाधिकारियोंं को बाहर का रास्ती दिखाया जा सकता है। उनकी जगह नए चेहरों को बागडोर सौंपी जएगी। जिससे नगरीय निकाय में अच्छ परीणाम देखने को मिले। 

सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लोकसभा चुनाव हार के बाद प्रदेश के सभी जिलों से रिपोर्ट मांगी है। इस रिपोर्ट में जिला अध्यक्षों की पर्फार्मेंस के बारे में बताया गया है। जिसके आधार पर बड़ा फेरबदल होने की संभवाना है। वहीं, कई ज़िलों में कई कार्यकारी अध्यक्षों की भी छुट्टी हो सकती है। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी की प्रदेश कार्यकारिणी अभी काफी लंबी-चौड़ी है. इसमें महामंत्री, उपाध्यक्ष और सचिवों की संख्या 12 सौ के करीब है. कार्यकारिणी में बड़ी छंटनी होने जा रही है. पीसीसी मंडलम और सैक्टर के गठन पर भी फैसला लेने वाली है।