ग्वालियर।अतुल सक्सेना।
अपने घर में अंधेरा कर दरवाजे और बालकनी में रोशनी करने की अपील का लोगों पर व्यापक असर हुआ और देश के लोगों ने कोरोना को हराने के लिए एकजुट होकर रोशनी की। ग्वालियर में कुछ अद्भुत ही तस्वीरें देखने को मिली। एक ओर जहाँ कांग्रेस इसका विरोध करती रही वहीं कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने पत्नी संग दीप जलाकर चारों और रोशनी की। उधर शहर में गरीबों की झोपड़ियों में दीप जगमगाये।

रविवार रात घर की सभी बिजली बंद कर 9 बजे 9 मिनट तक खड़े रहकर दीपक, टॉर्च, मोमबत्ती या मोबाइल के फ्लेश से रोशनी करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील का जादू सभी पर दिखाई दिया क्या गरीब क्या अमीर, सभी ने देश की खातिर कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में एकजुटता दिखाई और आसमान को जगमग कर दिया। ग्वालियर दक्षिण विधानसभा के कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने भी अपनी पत्नी और परिवार के साथ दीपक जलाये। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा “कृपया से राजनैतिक ऐनक से ना देखें। मेरे और मेरे परिवार के लिए राष्ट्र पहले है और अंतिम क्षण तक रहेगा। ये दीपक राष्ट्र के नाम है” । अंत में उन्होंने श्लोक लिखा ” शुभम् करोति कल्यानम्, आरोग्यम् धन संपदा। शत्रु बुद्धि विनाशाय, दीपोज्योति नमोस्तुते।”

इससे पहले प्रवीण पाठक ने एक पोस्ट में बिना पीएम का नाम लिखे उनकी दिया जलाने की अपील की थी।जिसमें उन्होंने लिखा था कि कांग्रेस विधायक पाठक ने जनता से अपील की है कि ये समय एकता प्रदर्शित करने का है। प्रवीण पाठक ने “यही समय है राष्ट्र का ऋण चुकाने का” शीर्षक के साथ लिखी पोस्ट में कहा है कि “किसकी क्या मंशा है,क्या इरादा है और क्या उद्देश्य है, ये सब सोचने का यह समय नहीं है । यह समय यह विचार करने का भी नहीं है । यह समय है साथ मिलकर आगे बढ़ने का । जब हमारा पूरा देश इस महामारी के कारण स्तब्ध है आम व्यक्ति भयग्रस्त है । यह समय है विश्व को यह दिखाने का कि,हम सत्य,सनातन, संस्कृति के वो योद्धा हैं जो हजारों सालों से जीवन्त हैं और हमेशा जीवन्त रहेंगे। आध्यात्मिक तौर पर दीप में देवताओं का तेज बसता है, इसलिए सकारात्मक ऊर्जा के संचार के लिए हम दीप जलाते है। इस भीषण महामारी के अंधकार में पथ प्रशस्त करते हैं,आशा का, विश्वास का,कि जल्द हम सब, हमारा पूरा देश, पूरा विश्व इस महामारी को हरायेगा.. देश में सकारात्मक ऊर्जा के संचार के लिए कोरोन फाइटर्स को सलामी देने के लिए लोकतांत्रिक देश के नागरिक होने के नाते देश के मुखिया की अपील के सम्मान में दलगत राजनीति से ऊपर उठ कर आज 5 अप्रैल को रात 9 बजे, 9 मिनिट के लिए एक दीप ज़रूर जलाएँ।

इसके अलावा ग्वालियर में पूर्व सांसद एवं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे अनूप मिश्रा ने परिवार के साथ घर के दरवाजे पर दीपक जलाये, ग्वालियर सांसद विवेक शेजवलकर ने भी परिवार के साथ बालकनी में दीप जलाये। कलेक्टर, कमिश्नर सहित प्रशासनिक अधिकारियों ने भी पीएम की अपील का पालन किया।

ये तस्वीर सबसे अलग और मार्मिक

इन सबसे अलग ग्वालियर में एक और तस्वीर बहुत अद्भुत दिखाई दी। ये तस्वीर अद्भुत ही नहीं मार्मिक भी है। शहर के लोग जहाँ अपने अपने घरों में, बालकनियों में, छतों पर, मल्टी स्टोरीज पर, कोठियों में रोशनी की तो गरीबों ने भी अपनी झोपड़ी को रोशन किया। गरीबों ने अपनी झोपड़ी के आगे दीपक जलाये और 9 मिनट तक उसके सामने खड़े रहे। बहरहाल पीएम की अपील के बाद देश की एकता की जो तस्वीर सामने आई उससे इतना तो तय हो गया है कि हम भारतवासी संकट के समय एक है और किसी भी दुश्मन को इसी एकता की ताकत पर जरूर हरा देंगे।