मंच पर ही कांग्रेस विधायक का फूटा गुस्सा, खनन मामले पर विधानसभा में धरने की चेतावनी

भोपाल। कांग्रेस की विधायक सुनीता पटेल का बड़ा बयान समाने आया है। उन्होंने कहा कि गाडरवारा में रेत खदान बन्द नहीं हुई तो विधानसभा में धरना दूंगी। उन्होंने बरमान मेले के उद्घाटन के दौरान यह बात कही। उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा कि मैं मां नर्मदा की कसम पूरी नहीं क़र पाई। उन्होंने कहा कि मैंने उत्खनन बन्द कराने पूरी मेहनत की। चुनाव के पहले घोषणा पत्र में मतदाताओं से रेत खनन रोकने का वादा किया था।

नर्मदा नदी के किनारे ब्रह्मांड घाट पर 1 माह तक चलने वाले ऐतिहासिक एवं पौराणिक धार्मिक मेले का शुभारंभ हो गया है। उद्घाटन समारोह में विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति, मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ, मंत्री लखन घनघोरिया, स्थानीय विधायक संजय शर्मा, विधायक जालम सिंह पटेल, सहित जिले के कलेक्टर, एसपी मौजूद रहे। इस दौरान, विधायक सुनीता पटेल ने अफसोस जताते हुए कहा कि चुनाव के पहले घोषणा पत्र में मतदाताओं से रेत खनन रोकने का वादा किया था। लेकिन अपना वादा अभी तक पूरा नहीं कर पाई।

वहीं, विधायक के आरोपों पर कलेक्टर दीपक सक्सेना ने कहा कि सत्ता पक्ष एवं प्रशासन हमेशा उनके साथ है। यदि पहले से ही कोई रेत खदान आवंटित हुई है तो उसमें हो रहे उत्खनन को नहीं रोका जा सकता। वैसे भी विकास के लिए रेत आवश्यक है और विधायक का दर्द यह है की नर्मदा नदी से रेत का उत्खनन पूरी तरह बंद हो जाए। कलेक्टर ने कहा कि ये शासन की नीति का मामला है। जहां तक रेत से भरे ट्रक और ट्रैक्टरों का सवाल है, उनके पास रॉयल्टी होती है और ऐसे में हर ट्रैक्टर और ट्रक को अवैध नहीं कहा जा सकता।