भाजपा से नजदीकी रखने वाले नेताओं को नहीं मिलेगी निगम मंडलों में ‘कुर्सी’

congress-orders-leaders-close-to-BJP-will-not-get-benefit-of-political-appointment-in-mp

ग्वालियर। अतुल सक्सेना |मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के गठन के बाद से ही निगम, मंडलों, प्राधिकरणों और पार्टी के विभिन्न पदों को भरे जाने का लम्बे समय से पार्टी कार्यकर्ता इंतजार कर रहे हैं। इस बीच AICC ने स्पष्ट कर दिया है कि प्रदेश में किसी भी पद पर नियुक्ति से पहले व्यक्ति की पूरी पड़ताल कर ली जाए। पार्टी ने कहा कि इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि ऐसा कोई भी व्यक्ति किसी पद पर नहीं बैठाया जाए जिसके भाजपा से सम्बन्ध हो या रहे हो।

कमलनाथ सरकार के गठन के लगभग आठ महीने बाद अब निगम, मंडल और प्राधिकरणों सहित पार्टी के खाली पड़े कई पदों को भरने की कवायद शुरू होने वाली है । लेकिन इसके लिए AICC ने PCC को निर्देश जारी किये हैं। ऑल इण्डिया कांग्रेस कमेटी के महासचिव और प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से खास बातचीत में कहा कि पार्टी का मत है कि जो भी व्यक्ति यानि नेता किसी भी पद पर बैठे उसकी पूरी तरह से पड़ताल की जाए। उसके नाम का प्रस्ताव भेजने से पहले उसके पिछले 15 साल का योगदान, पिछले दो चुनावों की क्रियाशीलता, उसकी छव��� और सर्वमान्यता और पहचान को जांचा परखा भी जाये। उन्होंने कहा कि किसी भी पद पर बैठने वाले व्यक्ति पर किसी भी तरह का अपराध नहीं हो इसका भी ध्यान रखा जाए।

इन बातों का रखें खास ध्यान

दीपक बाबरिया ने कहा कि नियुक्ति के लिए नामों का सुझाव वर्तमान मंत्री, विधायक, सांसद पूर्व विधायक, पूर्व सांसद और प्रदेश एवं जिले के वरिष्ठ से लिया जाए और कोशिश की जाए कि प्रदेश के अधिक से अधिक क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व इसमें हो किसी एक ही क्षेत्र का नहीं। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि नियुक्तियों में युवा,महिला और सामाजिक समीकरणों का ध्यान रखा जाए। 

भाजपा से कनेक्शन वालों को नहीं मिलेगी कुर्सी

प्रदेश प्रभारी ने दो टूक शब्दों में कहा कि भाजपा से कनेक्शन रखने वाले किसी भी नेता को कोई भी पद नहीं दिया जायेगा। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि पिछले दिनों एक ऐसे जिला अध्यक्ष की नियुक्ति की गई थी जो 15 दिन पहले ही भाजपा छोड़कर कांग्रेस में आया था। इतना ही नहीं उसपर अपराध भी दर्ज था। इसलिए पार्टी ने इस बार फैसला किया कि कोई भी नियुक्ति बहुत जांच परख कर की जाएगी। बाबरिया ने PCC को निर्देश देते हुए कहा कि सर्व सम्मति से अंतिम सूची बनाकर अनुमोदन के लिए AICC के पास भेजी जाए उसी के बाद घोषणा की जायगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here